लॉकडाउन में चली गई नौकरी तो अपना लिया ऑनलाइन ठगी का धंधा, पर हल्द्वानी में फेल हो गया मिशन

 

लालकुआ/हल्द्वानी । मुखानी थाना पुलिस ने दो शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है, यह दोनों लॉकडाउन में नौकरी चले जाने के बाद तीन घटनाओं को अलग-अलग शहरों में ठगी की घटनाओं को अंजाम दे चुके थे ।

अपर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर जगदीश चंद्र ने बताया कि बिठौरिया निवासी अशोक कुमार की ज्वेलर्स की दुकान है। 19 जनवरी को दो अज्ञात लोगों ने सोने के आभूषण जिसमें एक सोने की चैन, दो जोड़ी कान के टॉप्स और दो अंगूठी खरीदें और एक लाख नौ हजार पांच सौ का भुगतान ऑनलाइन ट्रांजैक्शन से कर दिया। ज्वेलर्स के मोबाइल पर मैसेज भी आया जिसके बाद वह दोनों शातिर तक वहां से चले गए।
लेकिन दुकान स्वामी के पैरों तले जमीन तब खिसक गई जब देखा कि अकाउंट में एक भी रुपया नहीं आया है जिसके बाद ज्वेलर्स स्वामी अशोक कुमार ने मुखानी थाना में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया, पुलिस द्वारा की गई जांच में जब सीसीटीवी चेक किए गए तो घटना के समय दो लोग पहचाने गए। पुलिस की जांच में इन दोनों की पहचान मनजीत सिंह और प्रभुज्योत सिंह निवासी रुद्रपुर के रूप में हुई। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सारा राज खुल गया।
पुलिस पूछताछ में दोनों ने बताया कि लॉकडाउन में उनकी नौकरी चली गई थी, जिसके बाद वह इस तरह की ठगी की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। उन्होंने इससे पूर्व एक घटना नजीबाबाद और दूसरी घटना रुद्रपुर में रस्तोगी ज्वेलर्स के वहां अंजाम दी और तीसरी घटना बिठौरिया में 19 जनवरी को दी। फिलहाल पुलिस ने मनजीत सिंह पुत्र ऋषि पाल सिंह शांति कॉलोनी रूद्रपुर और प्रभुज्योत सिंह पुत्र अमरजीत सिंह निवासी शांति कॉलोनी रुद्रपुर को मय माल समेत गिरफ्तार कर लिया और जेल दिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*