यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा को लेकर अब उठाया बड़ा कदम, कांवड़ियों के संघों से की बातचीत, फिर लिया यह निर्णय

लखनऊ। यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा स्थगित कर दी है। शनिवार को कांवड़ संघों से संवाद के बाद प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है कि इस साल भी कोरोना महामारी के कारण कांवड़ यात्रा नहीं आयोजित की जाएगी।

यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा को लेकर पहले अनुमति दे दी थी। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: इस मामले का संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी कर 19 जुलाई तक कांवड़ यात्रा को लेकर जवाब दाखिल करने को कहा था। इसके बाद मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल को कांवड़ यात्रा के मद्देनजर दूसरे राज्यों से बातचीत करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद दूसरे राज्यों और यूपी के कांवड़ संघों से बातचीत की गई, जो सफल रही। इसके बाद शनिवार शाम को सरकार की ओर से बयान जारी कर बताया गया कि सरकार ने कांवड़ संघों से बातचीत के बाद इस साल भी कांवड़ यात्रा स्थगित कर दी है।

यह भी पढ़ें : कांवड़ियों के लिए 24 जुलाई से सील हो जाएगी हरिद्वार सीमा, ट्रेनों पर नजर रखने के लिए पुलिस ने बनाया यह प्लान

यह भी पढ़ें : केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, कांवड़ियों के हरिद्वार जाने पर लगे रोक, टैंकरों से पहुंचाया जाए गंगा जल

पिछले साल कांवड़ संघों ने सरकार के साथ बातचीत के बाद खुद ही यात्रा स्थगित कर दी थी। इस बार भी सरकार ने संघों की सहमति से ही यह फैसला लिया है। हालांकि, यूपी सरकार चाहती थी कि इस बार कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध न लगे। बल्कि कोविड प्रोटोकॉल के तहत यात्रा निकाली जाए, मगर उत्तराखंड सरकार ने बाहर से आने वाले कांवड़ियों के राज्य में प्रवेश पर रोक लगा दी, जिसके बाद यूपी सरकार को यह कदम उठाना पड़ा।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*