spot_img

सीएम योगी से मिले धामी, 21 साल से अटके परिसंपत्तियों के मामलों में यूं बनाई सहमति

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ। उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी (Uttrakhand CM Pushkar Dhami) दो दिन के लिए राजधानी लखनऊ में हैं। इस दौरे के तहत आज उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और दोनों राज्यों के बीच परिसंपत्ति विवाद को लेकर वार्ता की।

बैठक के बाद वीवीआइपी गेस्ट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान उत्तराखंड के सीएम धामी (Uttrakhand CM Pushkar Dhami) ने बताया कि दोनों राज्यों के बीच संपत्ति के स्थानांतरण को लेकर बात हुई है। 21 साल से जो मामले लंबित पड़े थे उस पर सहमति बनी है। हमारे सिंचाई विभाग की 5700 हेक्टेयर भूमि पर दोनों राज्यों का संयुक्त रूप से सर्वे होगा, जो जमीनें उत्तर प्रदेश के काम की हैं, वह उत्तर प्रदेश को मिल जाएंगी। उत्तर प्रदेश उत्तराखंड दोनों एक-दूसरे के साथ खड़े हुए हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बातचीत के दौरान बताया कि ज्यादातर मुद्दों पर सहमति बनती नजर आ रही है। राज विभाग को हस्तांतरित होने वाली कुंभ मेला की जमीन को लेकर भी बात हुई है।

यह भी पढ़ें : सलमान खुर्शीद के घर फायरिंग व आगजनी करने वाले चार आराेपी गिरफ्तार

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस को झटका, गुलाम नबी आजाद के करीबी 7 प्रमुख नेताओं ने दिया इस्तीफा

ये मुद्​दे वर्षों से अनसुलझे

उत्तराखंड पर्यटन विभाग को पुरानी ऊपरी गंग नहर में वाटर स्पोर्ट्स की अनुमति देनी है। इसके अलावा उधम सिंह नगर में धौरा, बैगुल, नानक सागर जलाशय में जल क्रीड़ा से पहले परीक्षण कराया जाना है। केंद्र सरकार के निर्देश के अनुसार उत्तराखंड वन विकास निगम को यूपी वन निगम को भी भुगतान किया जाना है। यूपीसीएल को बिजली बिलों का बकाया भुगतान देना है। इसके अलावा यूपी परिवहन के लखनऊ स्थित कार्यालय, कार सेक्शन फॉर कानपुर स्थित केंद्रीय कार्यशाला के विभाजन का फैसला होना है। उत्तराखंड राज्य बनने के बाद भी अभी तक परिसंपत्तियों के बंटवारे का मामला सुलझा नहीं है। इस संबंध में पिछली बैठक अगस्त 2019 में हुई थी। हालांकि इस बैठक के दौरान कई मुद्दों पर सहमति बनी, लेकिन ज्यादातर मामलों में कोई फैसला नहीं हो सका और उत्तराखंड को परिसंपत्तियां ट्रांसफर नहीं हुई।

पुराने दिनों काे किया याद

पुष्कर सिंह धामी (Uttrakhand CM Pushkar Dhami) ने लखनऊ में रहने के दौरान लखनऊ विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की थी। वह 1994-95 में लखनऊ आए थे। यहां अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभिन्न पदों पर रहे। पत्रकारों से वार्ता के दौरान पूछे गए एक सवाल में धामी (Uttrakhand CM Pushkar Dhami) ने कहा कि वह जीवन के सबसे हसीन दिन थे। मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार लखनऊ आए। पुराने दिनों की यादें फिर ताजा हो गईं। उन्होंने बताया कि बुधवार को लखनऊ विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान उन्हें सम्मानित किया गया। वह अपने छात्रावास के कमरा नंबर 119 में भी गए। पुष्कर धामी कहते हैं कि उन दिनों को कभी नहीं भुलाया जा सकता।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles