19.8 C
New York
Thursday, October 21, 2021

Buy now

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा के परिणाम को लेकर कसरत, इस फॉर्मूले पर दो दिन में लगेगी मुहर

देहरादून। उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा परिणाम का फॉर्मूला करीब-करीब तय कर लिया गया है। शिक्षा समिति की सोमवार को हुई बैठक में सीबीएसई, यूपी और हिमाचल प्रदेश बोर्ड की ओर से तय किए गए मूल्यांकन पद्धति पर गहन विचार-विमर्श किया गया, जिसके बाद कहा जा रहा है कि जल्द ही सरकार की आेर से तय किए गए फॉर्मूले पर मुहर लगा दी जाएगी। समिति दो दिन के भीतर शासन को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

आसान नहीं है रिजल्ट तैयार करना, आ रहीं ये दिक्कतें

उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं व 10वीं कक्षा के करीब 2.71 लाख छात्र-छात्राओं के रिजल्ट के लिए अंकों के निर्धारण का फार्मूला जल्द तय करने को गठित समिति को अन्य कई दिक्कतों से भी रूबरू होना पड़ रहा है। प्रधानाचार्य परिषद से लेकर शिक्षकों के संगठन कई स्कूलों में कोरोना संकट की वजह से प्रदेश में प्री बोर्ड या मासिक परीक्षा नहीं कराने का तथ्य सामने ला चुके हैं। ऐसे में प्री-बोर्ड और मासिक परीक्षा कराने से वंचित रहे माध्यमिक स्कूलों और प्रैक्टिकल नहीं दे सके तकरीबन पांच फीसद छात्र-छात्राओं को दोबारा परीक्षा का मौका देने अथवा अन्य विकल्प पर भी समिति ने मंथन किया। इस बारे में आगे एक-दो दिन में फैसला लेने के साथ ही समिति अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपेगी।

यह भी पढ़ें: Uttrakhand Board : 12वीं की परीक्षा को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, शिक्षा सचिव ने जारी किया यह आदेश

यह भी पढ़ें: Uttrakhand Board Result : इस आधार पर पास होंगे उत्तराखंड 10वीं व 12वीं छात्र, तैयार हो रहा फार्मूला। प्रेक्टिकल न देने वालों के लिए अब यह करना होगा

12वीं के लिए इस फॉर्मूले पर विचार

शिक्षा महानिदेशक विनय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में गठित समिति में माध्यमिक शिक्षा निदेशक आरके कुंवर, अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक सीमा जौनसारी, उत्तराखंड बोर्ड की सचिव नीता तिवारी और गढ़वाल व कुमाऊं मंडल के अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक सदस्य हैं। समिति की पहली बैठक में 12वीं की परीक्षा को लेकर मोटे तौर पर फार्मूले पर सहमति बन चुकी है। इसमें 10वीं व 11वीं की परीक्षा में प्राप्त अंकों का 30-30 फीसद और 12वीं कक्षा में हुई मासिक परीक्षा, प्री-बोर्ड परीक्षा, प्रायोगिक परीक्षा व अन्य परीक्षा के अंकों का 40 फीसद 12वीं कक्षा में विभिन्न आंतरिक परीक्षाओं, प्रायोगिक परीक्षाओं के अंकों के निर्धारण में शामिल करने का प्रस्ताव है। सोमवार को समिति की दूसरी बैठक में कई राज्यों में की जा रही व्यवस्था का अध्ययन भी किया गया।

यह भी पढ़ें: CBSE result : 30 जून के बाद आ रहा है 10वीं का रिजल्ट, जानिए छात्रों को ऐसे मिलेंगे नम्बर

यह भी पढ़ें: UP बोर्ड ने भी तैयार किया रिजल्ट का फाॅर्मूला, ऐसे पास किए जाएंगे 10वीं-12वीं के विद्यार्थी

10वीं में ऐसे दिया जा सकते हैं नंबर

सूत्रों के मुताबिक, 10वीं कक्षा में नौवीं के प्राप्तांक के साथ ही 10वीं कक्षा के दौरान विभिन्न परीक्षाओं में मिले अंकों के आधार पर मूल्यांकन होना है। शिक्षा महानिदेशक विनय शंकर पांडेय ने बताया कि एक-दो दिन में समिति अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपेगी।

 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles