प्यार पाने के लिए कलाबा पहन छलावा करने वाला विलाल अब सलाखों में, लड़की के नाम से होटल बुक कराकर ठहरा था अजमेर में। मगर पकड़ा गया

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

कलाबा पहनकर हिन्दू बनने का ढोंग करने वाला बिलाल आखिरकार खाकी के लंबे हाथों से बच नहीं सका। हालांकि उसने अपने शातिर दिमाग का पूरा इस्तेमाल किया। बरेली से हलद्वानी और फिर दिल्ली होते हुए अजमेर को भागा बिलाल वहां एक लड़की की आईडी पर कमरा बुक कराकर रुका था। जिसे पुलिस ने धर दबोचा। फिलहाल बिलाल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। जबकि लड़की के लिए नारी निकेतन भेज दिया। मंगलवार को उसके कोर्ट में 164 के बयान कराये जाएंगे। लड़की कहां रहेगी इसका निर्णय मंगलवार को होगा।
17 अक्टूबर को किला के पंजाबपुरा इलाके से बीएससी की छात्रा लापता हो गई थी। इस मामले में छात्रा के पिता की ओर से थाना किला में बिलाल घोसी उसके दोस्त विशाल, उसकी पत्नी, शिवम शर्मा और बिलाल के परिवार वालों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था। छात्रा के पिता ने आठ लाख से ज्यादा कैश चोरी कर ले जाने का आरोप लगाया था। इसको लेकर भाजपा और हिंदू संगठनों ने किला थाने में मंगलवार को काफी प्रदर्शन किया था। जिसकी वजह से पुलिस काफी एक्टिव थी। घटना के सातवें दिन पुलिस ने छात्रा और उसके कथित प्रेमी बिलाल घोसी को अजमेर के दरगाह इलाके के एक होटल से बरामद कर लिया। दोनों को पुलिस की कड़ी सुरक्षा में बरेली लाया गया। पुलिस को छानबीन में पता लगा कि बिलाल ने छात्रा का नाम बदल कर रेखा नाम से उसकी फर्जी आईडी का इस्तेमाल किया। आधार कार्ड में उसका फोटो वही रहा लेकिन नाम बदल दिया। फर्जी आधार कार्ड मिलने के बाद पुलिस ने मुकदमे में धोखाधड़ी और जालसाजी की धाराएं बढ़ा दीं हैं। उनके पास से पुलिस ने 3.18 लाख का कैश बरामद किया है। मुकदमे में चोरी और चोरी का माल बरामद होने की धारा भी बढ़ाई गई है। तीनों धाराओं के आधार पर बिलाल को कोर्ट में पेश किया। रिमांड मजिस्ट्रेट ने शनिवार को बिलाल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। वहीं छात्रा पुलिस की अभिरक्षा में थी। छात्रा शैक्षिक प्रमाणपत्रों के आधार पर 19 साल की बालिग है। वह प्रेमी बिलाल के साथ जाने की जिद पर अड़ी रही। उसका कहना था कि वह मरते दम तक बिलाल के साथ ही रहेगी। जिस पर उसे मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे सीआरपीसी 164 के बयान होने तक नारी निकेतन में रहने का आदेश दिया है। जिस पर शनिवार देर शाम छात्रा को नारी निकेतन भेज दिया गया। सोमवार को छुट्टी होने की वजह से मंगलवार को छात्रा के कोर्ट में बयान दर्ज कराए जाएंगे।

पांच लाख रुपये उड़ाये, 3.18 लाख मिले
छात्रा के पिता ने आफिस से आठ लाख रुपये ले जाने का आरोप लगाया था। छात्रा और बिलाल के पास से पुलिस ने 3.18 लाख बरामद किये हैं। आरोपियों ने उत्तराखंड, दिल्ली और राजस्थान की सैर में पांच लाख रुपये उड़ा दिये। कुछ रुपये दोस्तों को भी दिये होंगे। आखिरकार इतने रुपये छह दिन में खर्च कैसे हो गये।

छात्रा और उसके प्रेमी बिलाल को गिरफ्तार किया है। छात्रा को नारी निकेतन भेजा गया। फर्जी आईडी और चोरी का कैश बरामद होने के आरोप में बिलाल को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। मंगलवार को छात्रा के कोर्ट में बयान कराए जाएंगे। छात्रा बालिग है। कोर्ट के आदेश पर विधि अनुसार कार्रवाई की जाएगी ।
– रोहित सिंह सजवाण एसएसपी

बालिग है छात्रा, पुलिस सुरक्षा घेरे में रहेगी।
छात्रा ने पुलिस को बताया कि उसका अपहरण नहीं हुआ था। वह अपनी मर्जी से बिलाल के साथ गई थी। उसकी अभी बिलाल से शादी नहीं हुई है। वह बिलाल के साथ ही रहेगी। मेरे मां बाप के बेवजह बिलाल और उसके परिवार को परेशान कर रहे हैं। बिलाल घोसी को शनिवार को पुलिस ने जेल भेज दिया। अब छात्रा अपने माता पिता के साथ जाने को तैयार नहीं है। इसी वजह से मजिस्ट्रेट ने उसे नारी निकेतन भेजा है। मंगलवार को कोर्ट बालिग छात्रा की मर्जी के मुताबिक ही आदेश करेगा। बालिग छात्रा को अपना स्वतंत्र निर्णय लेने का अधिकार है। ऐसे में वह जहां भी जाएगी। पुलिस आनर किलिंग की आशंका पर उसे कड़ी सुरक्षा मुहैया कराएगी। शरारती तत्व छात्रा का अहित कर सकते हैं।

बवाल के डर से रात भर मीरगंज में रखा बिलाल घोसी

बिलाल घोसी और छात्रा को शुक्रवार की रात को ही पुलिस ने अजमेर से बरामद कर लिया था। लेकिन दोनों को शहर नहीं लाया गया। सांप्रदायिक मामला होने की वजह से बवाल की आशंका थी। इस वजह से बिलाल को मीरगंज थाने की हवालात में रखा गया। सुबह उसको सीधा कोर्ट लाया गया। कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

कड़ी सुरक्षा में एंबुलेंस से कराया छात्रा का मेडिकल परीक्षण

छात्रा का मेडिकल परीक्षण पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में जिला अस्पताल में कराया। छात्रा को एंबुलेंस के जरिए लाया गया। अस्पताल में पुलिस का कड़ा पहरा रहा। जिसकी वजह से कोई छात्रा से मुलाकात नहीं कर पाया। चुपचाप पुलिस ने मेडिकल परीक्षण कराकर छात्रा को कड़े सुरक्षा घेरे में रखा। बाद में उसे नारी निकेतन भेज दिया। अब मंगलवार को छात्रा कोर्ट बयान दर्ज कराने के लिए पहुंचेगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*