प्यार में पागल अधिकारी ने गिफ्ट किया मकान, तबादला होते ही प्रेमिका ने दूसरे से लड़ा लीं आंखें। पता चला तो ऐसे फटा प्यार का बम

236
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

इन दिनों सेना के अफसर और उनकी मासूका का मामला काफी चर्चा में है। बरेली में तैनाती के दौरान युवती से जब उनका प्यार परवान चढ़ा तो उन्होंने एक घर उसे तोहफे में दे दिया लेकिन जब उनका ट्रांसफर सहारनपुर हुआ तो मासूका किसी डॉक्टर से दिल लगा बैठी। धोखा खाये सैन्य अफसर ने कोर्ट से नोटिस भेजकर युवती से घर खाली करवाने के लिए कहा। इस पर युवती रोती हुई थाने पहुंची पर वहां भी उसको निराशा ही हाथ लगी।

सैन्य अफसर का आरोप है, बदायूं निवासी युवती ने उन्हें प्यार के झांसे में लिया। पूर्व में वे जाट रेजीमेंट सेंटर बरेली में तैनात थे। इसी बीच उनकी युवती से मुलाकात हुई। मेल-मुलाकात का दौर बढ़ने के बाद कुछ ही दिन में दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया। अफसर ने प्रेमिका को पीलीभीत रोड सेटेलाइट के पास एक आलीशान घर खरीदकर गिफ्ट कर दिया। घर गिफ्ट करने के कुछ दिन बाद उनका तबादला सहारनपुर हो गया। ट्रांसफर के बाद भी वे बरेली आते-जाते रहे लेकिन कोरोना की वजह से लगे लाकडाउन के कारण 11 माह तक वह बरेली नहीं आ सके। इधर, युवती किसी डॉक्टर से दिल्लगी कर बैठी। डॉक्टर का सैन्य अफसर के गिफ्ट किये मकान में आना जाना शुरू हो गया। मकान के पड़ोस में सैन्य अफसर के एक दोस्त का घर भी है जब उनके दोस्त ने उनकी प्रेमिका और डॉक्टर के बीच के किस्से बताये तो सैन्य अफसर को पहले तो विश्वास नहीं हुआ लेकिन जब डॉक्टर को उन्होंने युवती के साथ देखा तो उनके बीच काफी गर्मागर्मी हो गई। धोखा खाने के बाद सैन्य अफसर ने युवती से मकान छीनने का निर्णय लिया।


सैन्य अफसर ने युवती से मकान वापस लेने के लिए सहारनपुर न्यायालय में वाद दायर किया। कोर्ट से जब युवती के पास नोटिस पहुंचा तो वह मकान छिनने के डर से परेशान हो गई। शनिवार को वह थाना बारादरी में समाधान दिवस में पहुंची। खुद को बेकसूर बताते हुए इंस्पेक्टर व अन्य पुलिसकर्मियों से सैन्य अफसर से समझौता कराने की बात कही। पुलिसकर्मियों ने सैन्य अधिकारी से बात की, लेकिन उन्होंने युवती से संबंध रखने से इनकार कर दिया। इसके बाद युवती रोती हुई थाने से चली गई।