spot_img

वाहनों में फास्टटैग नहीं लगाया तो देना होगा दोगुना टोल

एक दिसंबर से हाईवे पर वाहन में बिना फास्टैग लगाए यात्रा की तो आपकी जेब ढीली होगी। इन वाहनों लिए एक खास हाईब्रिड लेन होगी। बगैर फास्टैग वाले वाहन इसी लेन से दोगुनी राशि चुकाकर पास होंगे। साथ ही इसी लेन से ओवरलोडेड वाहनों पर नजर रखी जाएगी। यह हाईब्रिड लेन रोटेशन में बदलती भी रहेगी।
एनएचएआई ने सभी हाईवे पर एक दिसंबर से फास्टैग की व्यवस्था लागू करने का नोटिस जारी कर दिया है। सभी बैंकों को भी इसके लिए निर्देश दिए गए हैं। कई बैंकों ने फास्टैग कार्ड मुहैया कराना शुरू कर दिया है।

ऐसे मिलेगा फास्टैग कार्ड
वाहन स्वामी फास्टैग कार्ड बैंकों से ऑनलाइन और ऑफलाइन ले सकते हैं। ये कार्ड उसे ही जारी होंगे जिसके नाम से वाहन है। इसके लिए बैंक को वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, आधार कार्ड, पैन, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी (वैकल्पिक ) की फोटो कॉपी देनी होगी। कार्ड 7 से 8 कार्यदिवसों में आपके घर पर पहुंच जाएगा। इसे गाड़ी की विंड स्क्रीन पर लगाना होगा। इसे मोबाइल की तरह रीचार्ज करने की सुविधा होगी।

रजिस्ट्रेशन चार्ज भी लगेगा
फास्टैग के लिए 100 रुपए रजिस्ट्रेशन शुल्क लगेगा। वाहन की कैटेगरी के हिसाब से 200 से 500 रुपए सिक्योरिटी डिपॉजिट करना होगा। हर कैटेगरी के वाहन के लिए मिनिमम रीचार्ज राशि भी बैंकों ने तय की है।

ऑफलाइन प्रक्रिया
बैंक जाकर एक हजार रुपए का चेक और फॉर्म के साथ सारे कागजात लगाने होंगे। 7 दिन में कार्ड आपके पते पर पहुंच जाएगा। हालांकि कुछ बैंकों ने इसके लिए अलग नीति बना दी है ताकि ग्राहकों को फास्टैग कार्ड लेने और रीचार्ज में कोई मुश्किल न हो।

टोल पर रुकना नहीं पड़ेगा
फास्टैग वाले वाहनों को टोल पर रुकना नहीं होगा। टोल प्लाजा पर लगे हाईटेक सेंसर 70 मीटर पहले ही फास्टैग की चिप को स्कैन कर गेट खोल देंगे। हालांकि, फास्टैग खाते में धन नहीं होगा तो गेट नहीं खुलेगा। ये सेंसर कानपुर रीजन के पांच टोल प्लाजा पर लग गए हैं। आने वाले समय में फतेहपुर हाईवे के टोल प्लाजा पर भी लग जाएंगे। इसके बाद टोल प्लाजा पर किसी भी लेन के काउंटर पर कर्मचारी नहीं होगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!