एसटीएफ को बड़ी सफलता- एक करोड़ की स्मैक समेत इस इलाके से दबोचा अन्तर्राज्यीय ड्रग तस्कर

65
खबर शेयर करें -

देहरादून। ड्रग्स-फ्री देवभूमि अभियान के तहत एंटी नार्कोटिक्स टास्क फोर्स और एसटीएफ ने नशा तस्करी पर बड़ा प्रहार किया है। उत्तर प्रदेश के अन्तर्राज्यीय ड्रग डीलर को हरिद्वार जिले में गिरफ्तार किया गया है। उसके कब्जे से एक करोड़ रुपए की स्मैक बरामद की गई है। उत्तराखंड राज्य में ए.एन.टी.एफ. द्वारा एक करोड़ 10 लाख रुपए की कीमत की स्मैक के साथ की गई अभी तक की स्मैक की सबसे बड़ी बरामदगी है। पकड़े गए नशा तस्कर से एक किलो 110 ग्राम स्मैक बरामद हुई है।

एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक चंद्र मोहन सिंह द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड राज्य में बढ़ते नशे की प्रवृति की रोकथाम हेतु मुख्यमंत्री  के उत्तराखंड के ड्रग्स-फ्री देवभूमि अभियान के अंतर्गत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा ड्रग्स के खिलाफ कार्यवाही करने के आदेश पर एसटीएफ कीएंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स द्वारा थाना मंगलौर जनपद हरिद्वार क्षेत्र से अभियुक्त मोहम्मद बिन कासिम पुत्र जाफर खान निवासी ग्राम खेलम थाना अलीगंज जनपद बरेली उत्तरप्रदेश को 1 किलो 110 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ़्तार किया गया।

मौके से एक अन्य अभियुक्त सलमान पुत्र जहांगीर निवासी पीरपुरा थाना मंगलौर जनपद हरिद्वार अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया।अभियुक्त कासिम द्वारा पूछताछ पर बताया कि यह स्मैक बरेली उत्तरप्रदेश से लेकर आया था जिसको वह थाना मंगलौर में फरार अभियुक्त सलमान को देने आया था, इस पर एसटीएफ द्वारा पूछताछ में अन्य कई ड्रग्स पैडलरो के नाम की जानकारी हुई है, जिन पर कार्यवाही की जायेगी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा अभियुक्त की गिरफ्तारी एवं बरामदगी में शामिल टीम को 10,000 रुपए के नगद पुरस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है। गिरफ्तारी एवं बरामदगी करने वाली ए.एन.टी.एफ टीम में निरीक्षक नीरज चौधरी, उपनिरीक्षक प्रकाश शाह, उप निरीक्षक विकास रावत, उप निरीक्षक सत्येंद्र सिंह, अपर उप निरीक्षक चिरंजीत सिंह, हेड कांस्टेबल नरेंद्र पुरी, हेड कांस्टेबल सुधीर केसला, हेड कांस्टेबल मनमोहन, कांस्टेबल राकेश, कांस्टेबल रामचंद्र कांस्टेबल दीपक नेगी कांस्टेबल गंभीर, कांस्टेबल अमित, प्रदीप परिहार शामिल थे।