दूसरों को नसीहत, खुद कोरोना संक्रमित होकर घूमते रहे सीएमओ। जानिए इन साहब की लापरवाही का आलम…

न्यूज जंक्शन 24, बदायूं : स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जहां दूसरों को सावधान रहने की नसीहत देते घूम रहे हैं, वहीं इस जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी लापरवाही की सारी हदें पार कर चुके हैं। आलम यह है कि कोरोना जांच का सेंपल देने के बाद भी वह भ्रमण करते रहे। रिपोर्ट जब पॉजिटिव आई तो हड़कंप मच गया। उनकी इस लापरवाही के खिलाफ अपर मुख्य सचिव ग्रह को लिखित शिकायत भी दर्ज कराई गई है।

थाना उघेती निवासी पुरुषोत्तम गुप्ता ने अपर मुख्य सचिव गृह को लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी यशपाल सिंह ने 15 अगस्त को ऑफिस पर ध्वजारोहण किया था। जबकि उनकी 13 अगस्त से तबियत काफी खराब चल रही थी। इसी बीच डिप्टी सीएमओ कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिलाधिकारी के निर्देश पर सीएमओ भी होम क्वारनटाइन किये गए। 25 अगस्त को उन्होंने जांच कराई। आरोप है कि जांच कराने के बाद वह बाहर चले गए। जबकि नियम है कि जांच कराने के बाद रिपोर्ट आने तक घर में ही क्वारनटाइन रहना पड़ेगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 27 अगस्त को सीएमओ की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई।
गुप्ता ने शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि इस प्रकार सीएमओ ही यह महामारी फैलाने का काम कर रहे हैं। जबकि सरकार का पूरा ध्यान इस महामारी को रोकने में है। जबकि ऐसे ही लापरवाही पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज रहे श्री प्रकाश सत्यार्थी एवं केरल कैडर के आईएएस श्री अनुपम मिश्रा निवासी सुलतानपुर को दंडित किया जा चुका है। पुरुषोत्तम गुप्ता ने सीएमओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*