छोटे शहरों की भी बड़ी पसंद बनी कास्मेटिक सर्जरी

188
खबर शेयर करें -


बरेली। बदलते दौर में सफलता के लिए खूबसूरत चेहरे और शारीरिक बनावट भी एक बड़ी जरूरत बन कर उभरे हैं । यही कारण है कि कभी फिल्म स्टार और उच्च वर्ग के लोग जिस कॉस्मेटिक सर्जरी का सहारा लेते थे, उसी के सहारे अब छोटे शहर के लोग भी खुद को चमकाने में लगे हुए हैं।


खूबसूरत दिखना तो हर कोई चाहता है मगर अभी तक कॉस्मेटिक सर्जरी को लेकर लोगों के मन में तमाम भ्रम थे।यह भ्रम अब टूट चुके हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बरेली,मुरादाबाद, मेरठ, आगरा जैसे शहरों में युवाओं के साथ ही अधेड़ भी कॉस्मेटिक सर्जरी का सहारा ले रहे हैं। कॉस्मेटिक सर्जन के पास सबसे ज्यादा लोग चेहरे और नाक की सर्जरी के लिए आ रहे हैं। लोग फेसलिफ्ट, सिलिकॉन इम्प्लांट, नोस शेपिंग, आइलेड सर्जरी, केमिकल पीलिंग, हेयर ट्रांसप्लांट आदि एडवांस सर्जरी करवा रहे हैं। मोटापा कम करने के लिए भी लोग एडवांस्ड लैप्रोस्कोपिक और बैरियाट्रिक सर्जरी का रास्ता चुन रहे हैं।

गरीब कन्याओं की कर रहे मुफ्त सर्जरी
प्लास्टिक सर्जन डॉ कौशल कुमार कहते हैं कि कॉस्मेटिक सर्जरी एक आम आदमी की बड़ी जरूरत है । उन लड़कियों से पूछिए जिनकी टेढ़ी नाक, कटे होंठ या दाग धब्बे के कारण शादी नहीं हो पाती है। ऐसी लड़कियां कॉस्मेटिक सर्जरी के बाद अपना जीवन सुकून से जी पाती हैं। उनके लिए यह एक वरदान है। मैं गरीब कन्याओं के लिए हर वर्ष कैंप लगाकर मुफ्त सर्जरी के रुप में उपहार देता हूं।

शरीर के हर हिस्से को बनाना खास
प्लास्टिक सर्जन डॉ शरद खण्डेलवाल कहते हैं कि कॉस्मेटिक सर्जरी से ना केवल शरीर के अंगों को बेहतर और मनचाहा आकार दिया जा सकता है बल्कि त्वचा को भी बेदाग किया जा सकता है। अब लोग जिंदगी भर दाग-धब्बों या खराब लग रहे अंगों के साथ नहीं जीना चाहते हैं। कॉस्मेटिक सर्जरी से जले हुए निशानों के साथ ही बेजान ढीली त्वचा, अत्यधिक फूले हुए गाल ,आंखों के नीचे के काले गड्ढे से भी छुटकारा पाया जा सकता है।