spot_img

एटीएम से पैसे निकलने का मैसेज आ जाये और रुपये फिर भी न निकलें तो आप भी हो सकते हैं इस गिरोह का शिकार

न्यूज़ जंक्शन 24, जमशेदपुर।

एटीएम में चिमटा फंसाकर अवैध ढंग से निकासी करने और एटीएम क्लोनिंग करने वाले गिरोह के दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।आरोपी गिरिडीह निरंजन कुमार निराला (32) व गया निवासी रवि रंजन कुमार (26) हैं।

एसपी मो. अर्शी ने खुलासा करते हुए बताया कि उज्जीवन स्मॉल फाईनेंस लिमिटेड बैंक के संदीप कुमार ने शिकायत की थी कि एटीएम में चिमटा लगाकर कुछ लोग पैसे की निकासी कर रहे हैं। शिकायत के आधार पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगला। इस दरम्यान पता चला कि दो व्यक्ति कियोस्क मशीन में चिमटा लगाकर पैसे निकाल रहे हैं। इस आधार पर पुलिस ने गुप्तचर की तैनाती की। कुछ दिनों तक एटीएम काउंटर आने-जाने वालों पर नजर रखी गयी। 18 सितंबर की शाम पांच बजे सूचना मिली कि लाल बिल्डिंग दुर्गा मंदिर के पास एटीएम से पैसे निकालने वाले व्यक्ति सफेद रंग की होंडा अमेज कार में घूम रहे हैं। पुलिस टीम जैसे ही कार के समीप पहुंची तो वे भागने लगे। इसमें दो को पुलिस ने पकड़ लिया, जबकि दो फरार हो गये। पकड़े गये आरोपियों ने स्वीकार किया कि वे एटीएम से अवैध तरीके से निकासी कर रहे थे। उन्होंने अपने दो अन्य साथियों के नाम लालटु कुमार व विपिन कुमार बताया। दोनों बिहार के गया निवासी हैं।

पैसा निकालने के बाद फंसाते थे चिमटा

एसपी ने बताया कि पकड़े गये आरोपी पहले एटीएम में जाकर पैसे की निकासी करते थे। इसके बाद कियोस्क मशीन में चिमटा फंसा देते थे। इसके बाद अगर कोई पैसे की निकासी का प्रयास करता था तो एकाउंट से पैसा कटने का मैसेज तो आता था, लेकिन मशीन से पैसा निकलता नहीं था। क्योंकि कियोस्क में फिट किए गए चिमटा में पैसा फंसा रह जाता था। गिरोह के सदस्य बाद में आकर औजार से चिमटे में फंसे पैसे की निकासी कर लेते थे। आरोपियों के पास से सात पीस चिमटा, होंडा अमेज कार (पीबी 91बी 1666), क्लोनिंग किये गये चार एटीएम कार्ड, चार मोबाइल व अभियुक्तों का पेन, आधार, ड्राइविंग लाइसेंस बरामद हुए है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!