पिथौरागढ़ में जानलेबा बनी बारिश, दो युवतियां बहीं, 32 मार्ग बंद। पहुंच रहे हैं सीएम

168
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, पिथौरागढ़। जिले में मुसीबत की बारिश थम नहीं रही है। आज रविवार को पिथौरागढ़ तहसील के सिमली गाव निवासी पूजा 16 वर्ष और अंजलि 17 वर्ष की गधेरे में डूबने से मौत हो गई। जब तक 108 चिकित्सा वाहन पहुंचा तब तक दोनों की मौत हो गई। इधर, आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी आज पिथौरागढ़ पहुंच रहे हैं।
रामगंगा नदी में पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों को जोड़ने वाली ट्राली डूब गई है। एक मकान ध्वस्त हो गया है। पांच परिवार खतरे में आ चुके है। सभी परिवारों को सुरक्षित स्थान पर रखा गया है। मुनस्यारी तहसील का मुख्यालय से संपर्क भंग है। टनकपुर – तवाघाट हाइवे में सुबह नौ बजे कालिका के पास मलबा आने से मार्ग बंद हो गया है। वाहन फॅसे है। आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत बंगापानी और मुनस्यारी , धारचूला के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद बरम आपदा राहत शिविर में आपदा पीड़ितों से मिलेंगे। सायं को पिथौरागढ़ पहुंचेंगे। रात्रि विश्राम पिथौरागढ़ में करेंगे। प्रशासन तैयारी में जुटा है। जिले में 32 मार्ग बंद है।

यह भी पढ़ें 👉  अतिक्रमण पर आयुक्त सख्त- 15 साल पुराने अतिक्रमण को चिन्हित कर 15 दिन में मांगी रिपोर्ट