मंदिर के पुजारी को पेट्रोल डालकर जिंदा जला डाला, मामूली विवाद में खौफनाक अंजाम।

न्यूज जंक्शन 24, जयपुर।

मंदिर की जमीन को लेकर चल रहे विवाद में करौली जिले के बूकना गांव में शुक्रवार को मंदिर के पुजारी को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया। गंभीर हालत में जब तक उसको लेकर अस्पताल पहुंचे, तब तक पुजारी ने दम तोड़ दिया। पुजारी की हत्या पर सियासी भूचाल आ गया है।
पुलिस का कहना है कि पुजारी बाबू लाल वैष्णव ने अस्पताल में दिए बयान में कहा है कि मंदिर के पास 15 बीघा जमीन है। जिसमें वह परिवार के साथ रह रहा था। गांव के ही शंकर, किशन, नमो और कैलाश मीणा ने उस पे कब्जा कर मकान बनाना शुरू कर दिया। इसका विरोध किया तो इन लोगों ने धमकी दी थी। उसके बाद पंचायत बैठी, जिसमें पंचायत ने उनके पक्ष में फैसला दिया और कहा गया कि जो मंदिर का पुजारी होगा, वही इस भूमि का इस्तेमाल करेगा। इस फैसले के बाद भी यह लोग बुधवार को आये और जमीन पर मकान बनबाने लगे। उन्होंने रोकने का प्रयास किया तो भड़क गए और बोले जब जिंदा जलाने की चेतावनी दे दी है तो जला ही देते हैं यह कहते हुए कुछ ने उसको पकड़ा और पेट्रोल डालकर आग लगा दी। इससे परिजन चीखने-चिल्लने लगे, जब तक भीड़ जुटी आरोपित भाग लिए। प्रशासन और पुलिस ने पुजारी को जयपुर के एसएमएस अस्पताल पहुंचाया, जहां पुजारी ने दम तोड़ दिया।
मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि दोषी बख्शे नहीं जाएंगे, वहीं भाजपा आक्रामक हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री बसुंधरा राजे ने खास है कि अब राहुल गांधी क्यों चुप हैं। उनको तत्काल गहलोत से इस्तीफा मांगना चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*