उत्तराखंड के तीन लाख से अधिक बेरोजगारों को राहत, सरकार ने उठाया ये कदम

285
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में परीक्षा नियंत्रक की तैनाती के बाद समूह-ग के करीब 4200 पदों पर होने वाली भर्ती का रास्ता खुल गया है। इससे नौकरी की आस में बैठे तीन लाख से अधिक बेरोजगारों को राहत मिल सकेगी।

आयोग में आठ महीने से परीक्षा नियंत्रक की कुर्सी खाली थी। इस्तीफा देने से पहले अध्यक्ष एस राजू ने आगामी भर्तियों की आठ परीक्षाओं पर रोक का पत्र शासन को भेजा था। जिसमें कहा गया था कि जब तक आयोग में परीक्षा नियंत्रक की तैनाती नहीं हो जाती, तब तक भर्ती परीक्षाएं कराना संभव नहीं है। दिसंबर में परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी के सेवानिवृत्त होने के बाद से सचिव संतोष बड़ानी ही परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

यह भी पढ़ें 👉  सैर पर निकले सीएम- बड़े-बुजुर्गों तक पहुंचाया प्रधानमंत्री मोदी का प्रणाम और राम-राम

अब परीक्षा नियंत्रक की तैनाती के बाद पटवारी-लेखपाल, पुलिस कांस्टेबल, फारेस्ट गार्ड, सहायक लेखाकार री-एग्जाम जैसी परीक्षाओं का रास्ता खुल गया है। इन विभागों में तमाम पदों के लिए बड़ी संख्या में युवाओं ने आवेदन किया था। अगले छह महीने में इन भर्तियों की परीक्षा होने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें 👉  बोली प्रियंका गांधी- रामनगर से मेरा खास रिश्ता

इन विभागों में होनी हैं भर्तियां

विभाग – खाली पद

फॉरेस्ट गार्ड भर्ती- 894

पटवारी+लेखपाल भर्ती- 520

पुलिस कांस्टेबल भर्ती- 1521

सब इंस्पेक्टर भर्ती- 272

लैब असिस्टेंट भर्ती – 200

सहायक लेखाकार री एग्जाम- 662

उत्तराखंड जेई भर्ती – 76

गन्ना पर्यवेक्षक भर्ती- 100