भारत में 5जी वीडियो कॉलिंग का सफल परीक्षण

142
खबर शेयर करें -

टेलीकॉम कंपनियों को नेटवर्क समाधान प्रदान करने वाली प्रमुख कंपनी एरिक्शन और स्मार्टफोन के लिए चिपसेट बनाने वाली कंपनी क्वॉलकॉम ने मिलीमीटर वेव (एमएमवेव) पर आधारित प्रौद्योगिकी के माध्यम से देश में लाइव 5जी वीडियो कॉलिंग का सफल परीक्षण किया है।
नई दिल्ली के एयरोसिटी में चल रहे तीन दिवसीय इंडिया मोबाइल कांग्रेस ( आईएमसी) के दूसरे दिन मंगलवार को दोनों कंपनियों ने 5जी स्मार्टफोन से यह लाइव परीक्षण किया। इस कॉलिंग के दौरान कोई बफरिंग नहीं हुई और वीडियो तथा वॉयस के बीच कोई अंतर नहीं दिखा। यह स्मार्टफोन स्नैपड्रैगन 855 मोबाइल प्लेटफॉर्म पर आधारित है और इसमें स्नैपड्रैगन एक्स 50 5जी मॉडेम आरएफ सिस्टम है। इससे कॉलिंग के लिए एरिक्शन के 5जी प्लेटफॉर्म का उपयोग किया गया।
एरिक्शन के दक्षिण पूर्व एशिया, ओसीयानिया और भारत के प्रमुख एन मिर्टिल्लो और क्वॉलकॉम इंडिया के उपाध्यक्ष राजन वगडिया ने मोबाइल कांग्रेस में एक दूसरे को 5जी वीडियो कॉलिंग कर इसका परीक्षण किया। श्री मिर्टिल्लो ने कहा कि 5जी एमएम वेव का अमेरिका में व्यावसायिक उपयोग किया जा रहा है और जापान तथा कोरिया सहित कई प्रमुख राष्ट्र इसे लागू करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इसमें 28 गीगाहट्र्ज और 39 गीगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम बैंड को 5जी के लिए उपयोग किया जाता है। मोबाइल के लिए एमएम वेव 4जी और 5जी दोनों के लिए उपयोगी है।
उन्होंने कहा कि एरिक्शन ने वर्ष 2017 में सबसे पहले भारत में 5जी प्रौद्योगिकी का प्रदर्शन किया था। पिछले कुछ वर्षों में देश में 5जी पारिस्थितिकी बनाने के लिए विभिन्न हितधारकों के साथ काम किया गया है। इस दिशा में आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि एमएम वेव पर 5जी वीडियो कॉलिंग का लाइव परीक्षण सफल रहा है।