तेजस हुई तीन घंटा लेट, हर यात्री को 250 रुपये का मुआवजा

161
खबर शेयर करें -


लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली जाने वाली तेजस एक्सप्रेस शनिवार करीब सवा तीन घंटे की देरी से दिल्ली पहुंची। इसके चलते लखनऊ से नई दिल्ली का सफर कर रहे प्रत्येक यात्री को आईआरसीटीसी ने 250 रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है। ट्रेन में 451 यात्री सवार थे।
आईआरसीटीसी अधिकारियों के मुताबिक यात्रियों के दर्ज मोबाइल नंबर पर एक लिंक भेजा जाएगा। यात्रियों को उस लिंक पर जाकर क्लेम भरना होगा। इसके बाद यात्रियों के अकाउंट में इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से मुआवजे की रकम ट्रांसफर होगी। दरअसल, शुक्रवार रात लखनऊ जंक्शन स्टेशन पर वाराणसी जाने वाली कृषक एक्सप्रेस यार्ड से प्लेटफॉर्म पर लाई जा रही थी। तभी अचानक ट्रेन के दो कोच पटरी से उतर गए। इससे नई दिल्ली से लखनऊ पहुंची तेजस एक्सप्रेस प्लेटफॉर्म पर ही खड़ी रह गई। पिट लाइन पर मरम्मत के लिए समय से नहीं पहुंची। इससे ट्रेन की मरम्मत और उसे तैयार करने में काफी समय लग गया। ट्रेन सुबह 6.10 बजे की जगह करीब तीन घंटे की देरी से नौ बजे नई दिल्ली के लिए रवाना हुई। नई दिल्ली करीब सवा तीन घंटे की देरी से दोपहर 3.40 बजे पहुंची।
आईआरसीटीसी के नियमों के तहत तेजस के एक घंटे व उससे ज्यादा देरी पर यात्रियों को 100 रुपये और दो घंटे या उससे ज्यादा कितनी भी देरी के लिए 250 रुपये मुआवजा दिया जाएगा। ट्रेन के देरी से पहुंचने के बाद आईआरसीटीसी मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव ने यात्रियों को मुआवजा देने का ऐलान किया।