ट्रेन ड्राइवर ने रेड सिग्नल में दौड़ा दी मालगाड़ी, जानिए फिर क्या हुआ

193
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ।

बरेली से लखनऊ की ओर मालगाड़ी लेकर जा रहे बरेली जंक्शन के दो लोको पायलट ने काकोरी स्टेशन पर रेड सिग्नल के बावजूद मालगाड़ी को दौड़ा दिया। लापरवाही के आरोप में दोनों लोको पायलट का लखनऊ में मेडिकल हुआ। लखनऊ से दूसरे लोको पायलट भेजकर मालगाड़ी को आगे रवाना कराया गया। वह तो अच्छा हुआ जो मालगाड़ी डिरेलमेंट होने से बच गई। मुरादाबाद डिवीजन ने दोनों लोको पायलट को बुक ऑफ कर दिया है। सोमवार को मंडल ऑफिस तलब किया गया। दोनों पर निलंबन की कार्रवाई हो सकती है।

रेल सूत्रों का कहना है कि रविवार रात 8:00 बजे श्रमजीवी गुजारने के लिए काकोरी स्टेशन पर सिग्नल दिया गया। मालगाड़ी रोकने के लिए रेड सिग्नल था मगर बरेली के लोको पायलट ज्ञानचंद और अमित कुमार ने अनदेखी करते हुए मालगाड़ी दौड़ाकर होम सिग्नल पार कर दिया। जबकि मालगाड़ी को रोकने के बाद पॉइंट बनाकर दूसरे ट्रैक से गुजारा जाना था मगर दोनों लोको पायलट ने रेड सिग्नल के बाद भी अनदेखी करते हुए सिग्नल ओवरशूट कर दिया। काकोरी स्टेशन मास्टर ने सिग्नल ओवरशूट की रेल कंट्रोल को सूचना दी। माल गाड़ी को रुकवाया गया।

लोको पायलट ज्ञान चन्द्र और अमित कुमार का मेडिकल कराया। मलिहाबाद में करीब आधा घंटे तक श्रमजीवी खड़ी रही। उत्तर रेलवे मुरादाबाद रेल मंडल के सीनियर डीओएम ने लोको पायलट ज्ञान चन्द्र और अमित कुमार को बुक ऑफ कर दिया। सोमवार को दोनों को मंडल आफिस तलब किया है। इस तरह की लापरवाही में सीधे निलंबन की कार्रवाई होती है। अगर माल गाड़ी की स्पीड अधिक होती तो लोको पायलट की लापरवाही से बड़ा रेल हादसा होता। मालगाड़ी डिरेल हो जाती। ज्ञान चन्द्र और अमित कुमार दो इंजन वाली मालगाड़ी लेकर शाम को रवाना हुए थे। लखनऊ तक गाड़ी लेकर जानी थी। वहां से स्टॉफ़ चेंज होता।