उत्तराखंड बोर्ड की हाईस्कूल टॉपर के स्कूल पर संशय, विभाग कराएगा जांच

150
खबर शेयर करें -

उत्तराखंड बोर्ड में हाईस्कूल की परीक्षा की टॉपर प्रियांशी रावत का डमी स्कूल से परीक्षा देने का मामला तूल पकड़ गया है। शत-प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली इस छात्रा ने जिस स्कूल से पढ़ाई की, उसकी 10वीं की मान्यता तक नहीं है। ऐसे में मामले की जांच की जाएगी।

जेबीएसजीआईसी गंगोलीहाट पिथौरागढ़ की छात्रा प्रियांशी रावत ने संयुक्त श्रेष्ठता सूची में सर्वोच्च स्थान प्राप्त कर पिछले सभी रिकार्ड ध्वस्त कर उत्तराखंड की 10वीं की बोर्ड परीक्षा में सबसे अधिक अंक लाने वाली छात्राओं में अपना नाम दर्ज कराया।

यह भी पढ़ें 👉  जंगल में पेड़ से लटका मिला युवक का शव, पुलिस जता रही यह संभावना

विभाग के अधिकारी शुरुआत में उसे सरकारी इंटरमीडिएट कॉलेज बता रहे थे, लेकिन अब बताया है कि यह अशासकीय विद्यालय है। इसको डमी स्कूल बताया गया है। पिथौरागढ़ के मुख्य शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार के मुताबिक साधना पब्लिक स्कूल की आठवीं कक्षा तक की ही मान्यता है। संभावना जताई जा रही है कि विद्यालय को इस साल से 9वीं कक्षा की मान्यता मिल जाए।