सतर्कता- केदारनाथ धाम यात्रा में हवाई सेवा के नाम पर ठगी करने वालों पर पुलिस की नजर

33
खबर शेयर करें -

रुद्रप्रयाग जिले में संचालित होने वाली श्री केदारनाथ धाम यात्रा अवधि में केदारनाथ धाम तक पैदल या घोड़े-खच्चर, डण्डी-कण्डी या हैलीकॉप्टर के माध्यम से पहुंचा जा सकता है। पैदल चढ़ाई चलने से बचने हेतु श्रद्धालु हैलीकॉप्टर टिकट बुकिंग का सहारा लेते हैं। इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रायः देखा जाता है कि साइबर ठगों द्वारा फर्जी वेबसाइट या फर्जी टिकट बनाये जाते हैं या यात्रियों से ओवररेटिंग की जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  मौसम अलर्ट- उत्तराखंड इन जिलों में आंधी-तूफान की संभावना

इस पर पुलिस की नजर बनी हुई है। इस प्रकार की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही हेतु जनपद की साइबर सेल को एक्टिवेट किया गया है, जो कि प्राप्त होने वाली शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करेंगे। अभी यात्रा शुरू होने में तकरीबन 10 दिवस का समय शेष है और हैलीकॉप्टर टिकटों के नाम से होने वाली ठगी से सम्बन्धित 06 ऐसी वेबसाइट्स जिनके द्वारा हैलीकॉप्टर टिकट उपलब्ध कराने का दावा किया जा रहा था को बन्द कराया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  गंगोत्री धाम में पुलिस की इस व्यवस्था से व्यापारियों में आक्रोश, बंद की दुकानें

इसके अतिरिक्त फेसबुक, व्हट्सएप के माध्यम से हैलीकॉप्टर टिकट उपलब्ध कराने का भ्रमित दावा करने वाले 09 मोबाइल नम्बरों को ब्लॉक कराया गया है। इस प्रकार से जबकि अभी केदारनाथ धाम यात्रा शुरू ही नहीं हुई है, पुलिस के स्तर से कुल 15 वेबसाइट्स/मोबाइल नम्बरों को ब्लॉक कराया गया है। कोई भी हैली कम्पनी या उनके नाम से या एजेन्ट या टूर या ट्रैवल एजेन्सी या कोई भी व्यक्ति इस प्रकार के कृत्य में संलिप्त रहेगा तो उसके विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की जायेगी।

यह भी पढ़ें 👉  जंगल में लगी भीषण आग, चपेट में आने से युवक की दर्दनाक मौत

पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग ने बताया कि केदारनाथ धाम यात्रा में हैलीकॉप्टर टिकटों की बुकिंग हेतु आई0आर0टी0सी0 को अधिकृत किया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य किसी भी प्रकार से हैलीकॉप्टर टिकट उपलब्ध कराने का झांसा देने वालों से सतर्क रहें और अन्य किसी भी वेबसाइट का सहारा न लें और होने वाली किसी भी प्रकार की ठगी से बचें।