युवाओं को बरेली में लगी इंडस्ट्री के मुताबिक तैयार करेगा रुहेलखंड विश्वविद्यालय, नए कोर्स का खाका तैयार

बरेली। रुहेलखंड विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट छात्रों को पढ़ाई पूरी होते ही नौकरी मिलेगी। यूनिवर्सिटी वोकेशनल कोर्स (बी.वॉक) शुरू करेगा। विवि बरेली में मौजूद कंपनियों की जरूरतों को जानने के बाद नया कोर्स डिजायन होगा

कुलसचिव डॉ. सुनीता पांडेय ने बताया कि पढ़ाई पूरी करने के बाद छात्र एक अच्छी नौकरी चाहता है। युवाओं का झुकाव विदेश में नौकरी करने की ओर रहता है पर हर छात्र का सपना पूरा नहीं होता लेकिन बढ़ती प्रतिस्पर्धा के चलते विदेश ही नहीं बल्कि अपने देश में भी अपने पसंद की अच्छी नौकरी पाना मुश्किल हो गया है। ऐसे में सरकार स्थानीय उद्योगों की जरूरतों के अनुसार छात्रों की तैयार करने पर काम कर रही है। इसी कड़ी में विवि ने भी वीवॉक कोर्स शुरू करने की तैयारी की है ताकि स्थानीय स्तर पर ही वे अच्छी सैलरी के साथ बेहतर जीवन शैली भी पा सके। डॉ. सुनीता पांडेय ने बताया कि छात्रों के सपने को पूरा करने के लिए वोकेशनल कोर्सेज काफी महत्वपूर्ण हैं। इसमें सामान्य इंजीनियरिंग डिग्री से अलग कई बी.वॉक कोर्स भी शामिल हैं।


इंडस्ट्री के साथ मीटिंग होगी, कमेटी का गठन जल्द
डॉ. सुनीता पांडेय ने बताया कि बी.वॉक कोर्स शुरू करने के लिए इनवेस्टर और उद्योगों के साथ जल्द ही मीटिंग की जाएगी। इसमें उद्योगों की जरूरतों के बारे में जानेंगे। इसके बाद बी.वॉक कोर्स डिजाइन करने के लिए इंजीनियरिंग के डॉ. विनय ऋषिवाल की अगुआई में कमेटी का गठन किया जाएगा। उद्योगों की जरूरतों का पता चलने के बाद कमेटी कोर्स डिजाइन करेगी। इसको लेकर डीन और हेड की मीटिंग भी बुलाई जा रही है।


ये हैैं कोर्स के फायदे
बैचलर ऑफ वोकेशनल कोर्सेस (बी.वॉक) तीन साल का डिग्री कोर्स है। इसमें उद्यमिता विकास, होटल मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग के विभिन्न क्षेत्रों को शामिल किया जाएगा। इसका उद्देश्य विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों को बढ़ाना है और छात्रों अच्छी ट्रेनिंग देकर उद्योगों के लायक बनाना है। यह कोर्स छात्रों की काबलियत को भी निखारने में मदद करेंगे और फिर वे अच्छी नौकरी पा सकेंगे। कोर्स अगले सत्र से शुरू होनेे की उम्मीद है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*