भाजपा अध्यक्ष के बुलावे पर नहीं पहुंचे विधायक जी, मोबाइल भी किया स्वीच ऑफ। अब होगी यह बड़ी कार्रवाई

159
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून : प्रदेश भाजपा जहां अनुशासनहीनता पर सख्त होती जा रही है, वहीं विधायकों पर पार्टी का यह रुख सफल होता नहीं दिख रहा है। कुमाऊं के दो विधायक द्वाराहाट से महेश नेगी और लोहाघाट से पूरन फर्त्याल का नाम ऊपर है। महेश नेगी पर एक महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है, जो इस वक्त कुमाऊं में सर्वाधिक चर्चा का विषय बना हुआ है। इससे भाजपा की काफी किरकिरी भी हुई है। दूसरे विधायक लोहाघाट के पूरन सिंह फर्त्याल हैं। फर्त्याल ने लोहाघाट में अपनी ही सरकार के विकास कार्यों के फैसलों पर उंगली उठा रखी है। उन्होंने लोहाघाट क्षेत्र में बन रहे एक पुल की गुणवत्ता को बेहद घटिया बताया था। साथ कई मामलों पर खुलकर बोलने से पार्टी को अखर गए हैं। इन सभी मामलों को लेकर प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने दोनों विधायकों को तलब करते हुए, रविवार 24 अगस्त को अपना पक्ष पार्टी कार्यालय आकर रखने को कहा था। इसमें नेगी तो अपना पक्ष रखने पहुंचे थे, लेकिन फर्त्याल नहीं पहुंचे। फर्त्याल को फोन मिलाया तो बंद जा रहा था। रात तक फोन बंद रहने पर पार्टी प्रदेशाध्यक्ष को काफी अखर गया। पार्टी अनुमान लगा रही है कि यह जानबूझ कर किया गया बर्ताव है। इसी को देखते हुए पार्टी ने अब नोटिस भेजने का निर्णय लिया है। बंशीधर भगत ने कहा है कि चाहें कोई कितना बड़ा ही क्यों न हो, अनुशासन में रहकर ही काम करना है। अनुशासनहीनता बर्दास्त नहीं होगी।

यह भी पढ़ें 👉  युवती को शादी का झांसा देकर दुराचार, अब डरा-धमका रहा आरोपी