हवा से छानकर मरीजों को ऑक्सीजन देगी, जानिए इस सरकारी अस्पताल में लगी ऐसी मशीन

171
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

मंडल के सबसे बड़े 300 बेड कोविड चिकित्सालय में कोरोना संक्रमितों को अब उनके बेड पर ही सांस लेने के लिए ऑक्सीजन मिल सकेगी। आईसीयू और ऑक्सीजन बेड के साथ ही अस्पताल में अब ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर मशीन भी लगाई गई है। इस मशीन की खूबी है कि यह हवा से ऑक्सीजन को छानकर लेती है और उसे मरीजों को दिया जाता है। 300 बेड कोविड अस्पताल में 20 मशीनें लगाई गई हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को 300 बेड कोविड चिकित्सालय का लोकार्पण किया था। अस्पताल में एल-1 स्तर की चिकित्सा सविधा पहले से ही चल रही है। अब यहां एल-2 स्तर की चिकित्सा व्यवस्था भी हो गई है। अस्पताल में आईसीयू बनाया गया है, जहां 18 वेंटिलेटर लगाए गए हैं। इसके साथ ही 135 बेड ऑक्सीजन सप्लाई युक्त है। अब अस्पताल में 20 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर मशीनें भी आ गई हैं। इन मशीनों की खासियत है कि इसके जरिये हवा में घुली ऑक्सीजन को छानकर अलग किया जाता है और मरीजों को सप्लाई होती है। इन मशीनों का उपयोग आपात स्थिति में किया जाएगा।

सीएमएस डॉक्टर वागीश वैश्य ने बताया कि आईसीयू में वेंटिलेटर की सुविधा और ऑक्सीजन युक्त बेड के साथ ही अब अस्पताल में 20 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर मशीन भी लगाई गई है। इन मशीनों की मदद से किसी आपात स्थिति में मरीज को ऑक्सीजन की सप्लाई की जा सकेगी। स्टाफ को इन मशीनों की ट्रेनिंग दी गई है।

कुछ सरकारी अस्पतालों में ही है मशीन

ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर मशीन गिनती के सरकारी अस्पतालों में है। जिले में 300 बेड कोविड चिकित्सालय पहला सरकारी अस्पताल है जहां यह मशीन लगाई गई है। जिला अस्पताल में कई साल पहले यह सिस्टम शुरू करने की योजना बनाई गई थी। शहर के कई प्राइवेट अस्पतालों में यह मशीन पहले से ही उपलब्ध है।