गैर जमानती वारंट होते ही कोर्ट में पेश गए शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय, कई और विधायक भी इस मामले में हैं नामजद।

414
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, रुद्रपुर।

एक पुराने आंदोलन करने के मामले में नामजद उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डेय समेत तीन विधायकों व एक पूर्व सांसदों के हाजिर नहीं होने पर कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किए थे। जिसमें आज शुक्रवार को शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय सिविल जज सीनियर डिवीजन के न्यायालय में पेश हुए।
शिक्षामंत्री पांडेय समेत विधायक राजकुमार ठुकराल, काशीपुर विधायक हरभजन सिंह चीमा, जसपुर विधायक आदेश चौहान व पूर्व सासंद बलराज पासी के विरुद्ध वर्ष 2015 में ऊधम सिंह नगर जिले के गदरपुर में एक मुकदमा कायम हुआ था। जो चक्का जाम के साथ ही तहसीलदार के साथ मारपीट करने का था।जिसमें शिक्षा मंत्री श्री पाण्डेय सहित पांच नामजद ओर अन्य लोगो को आरोपी बनाया गया था।
इस मामले में शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डेय समेत सभी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 147,186, 341 और 7 क्रिमिनल लॉ एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। लेकिन उनके न्यायालय में पेश न होने पर उनके विरुद्ध वारंट जारी किया गया था। आज अरविंद पांडेय इसी मामले में कोर्ट में पेश हुए।
अरविंद पांडेय के अधिवक्ता चरणजीत सिंह का कहना है कि इस मामले में वारंट जारी किया गया था। उसे रिकॉल कराने के लिए मंत्री जी न्यायालय में पेश हुए है। कोरोना काल मे मंत्री जी पेश नही हो सके थे।
वही शिक्षा मंत्री का कहना है कि वो जनहित के मुद्दे पर विपक्ष में रहते आंदोलन कर रहे थे । न्यायालय का सम्मान करते हुए सम्मन जारी होने पर वो न्यायालय में पेश नही हो सके थे। आज वो न्यायालय में पेश हो रहे है।

यह भी पढ़ें 👉  राज्य कर विभाग में वर्षों से एक ही पद पर जमे अधिकारियों के होंगे तबादले !