शर्मनाक : उत्तराखंड में प्रेमी ने विधवा प्रेमिका के दो बच्चों को गंगनहर में फेंका, जानिए क्यों किया ऐसा

 

हरिद्वार। जिले के मंगलौर में प्यार के नाम पर हैरान करने वाला मामला सामने आया है। विधवा महिला से प्यार की पींगे बढ़ाने वाले एक प्रेमी ने उसके दोनों बच्चों को गंगनहर में सिरा दिया। मामला खुला तो पुलिस अफसरों की जमीन भी खिसक गई। तलाश करने पर एक बच्चे का शव मिल गया है जबकि दूसरे का शव तलाशा जा रहा है।
उल्हेड़ा गांव की रहने वाली एक महिला अपने दो बच्चों लक्की (7) और लावेश (6) के साथ रुड़की क्षेत्र के गांव दहिया गांव में रहती है। वह एक फैक्ट्री में काम करती है, उसके पति का निधन 2019 में हो गया था। फैक्ट्री में काम करने के दौरान उसका लाखन नाम के व्यक्ति से संपर्क हो गया, लाखन भी उसी फैक्ट्री में काम करता था। उसके साथ प्यार की पींगे बड़ी तो प्रेमी लाखन एक साल से उसके साथ ही दहिया में रहने लगा। शनिवार को महिला ड्यूटी गई थी मगर लाखन घर पर गई था। महिला जब ड्यूटी से लौटी तो उसे दोनों बच्चे नहीं दिखे। उसने लाखन से पूंछा तो उसने अनभिज्ञता जता दी। देर रात तक जब पता नहीं चला तो महिला ने मंगलौर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो लाखन लड़खड़ाने लगा और उसके तर्क भटक रहे थे। पुलिस को शक हो गया और जब कड़ाई की तो सब उगल डाला। लाखन की निशानदेही पर पुलिस ने गंगनहर में छानबीन की तो लक्की का शव बरामद हो गया, जबकि लावेश की तलाश की जा रही है।

बच्चों को नहीं करता था पसंद, तीन बजे दोनों को फेंक आया

पुलिस के अनुसार लाखन ने बताया कि वह अकेले रहना चाहता था। वो दोनों बच्चों को पसंद नहीं करता था इसलिए शनिवार तीन बजे अपने साथ ले गया था और दोनों को गंगनहर में फेंक दिया। लाखन सहारनपुर के थाना देवबंद का रहने वाला है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*