तीन वर्ष में नंबर वन स्कूल बन गया हार्टमन

172
खबर शेयर करें -

बरेली। समर्पण और अनुशासन। इन दो शब्दों ने हार्टमन कालेज को बरेली रीजन का नंबर वन स्कूल बना दिया है। स्कूल ने पिछले तीन वर्षों में सफलता की जो गाथा लिखी है उसका सबसे बड़ा श्रेय स्कूल के प्रिंसिपल फादर पीटर विजय मिंज को जाता है। यह दूसरी बात है कि फादर पीटर हमेशा अपने शिक्षकों और छात्रों को इसका श्रेय देते हैं। स्कूल के अकादमिक रिकार्ड की बात की जाए तो फादर पीटर विजय मिंज ने अपनी टीम के साथ मिलकर ऐसी कार्ययोजना बनाई कि हार्टमन स्कूल देश के पौने तीन हजार मिश्नरी स्कूलों में चौथे नंबर पर पहुंच गया। पिछले वर्ष की तरह इस बार भी आईएससी (12वीं) और आईसीएसई (10वी) दोनों में हार्टमन के छात्रों ने ही मंडल में टॉप किया था। 12वीं और 10वीं दोनों की जिला टॉप टेन में भी हार्टमन के छात्र छाए रहे थे। अब अगले वर्ष होने वाली परीक्षा में भी हार्टमन को फिर से शानदार रिजल्ट की उम्मीद है।

मेहनत और अनुशासन का कोई विकल्प नहीं
हार्टमन कालेज के प्रधानाचार्य फादर पीटर विजय मिंज कहते हैं कि मेहनत और अनुशासन का कोई भी विकल्प नहीं है। हमारे छात्रों और हमारे स्टाफ के अंदर नंबर-वन बनने की एक जिद है। इसके लिए हमने एक टीम की तरह काम किया। छात्रों ने मेहनत और एकाग्रता के साथ पढ़ाई की। हमारे शिक्षकों ने भी अपने कार्य के प्रति पूरा समर्पण दिखाया। उनका मार्गदर्शन छात्रों के लिए लाभकारी साबित हुआ।

सकारात्मक रहने का देते हैं संदेश

सकारात्मक रहने का देते हैं संदेश

फादर पीटर विजय हमेशा अपने छात्रों को सकारात्मक रहने का संदेश देते हैं। फादर कहते हैं कि हमने अपने छात्रों को हमेशा एक ही बात कही कि लक्ष्य के प्रति सकारात्मक सोच सफलता की तरफ ले जाता है। जब छात्रों ने एक बार अपना लक्ष्य तय कर लिया तो हमारे शिक्षकों ने उसे पूरा कराने के लिए जी-जान से मेहनत की। स्कूल में एक-एक छात्र पर व्यक्तिगत रुप से ध्यान दिया गया। बोर्ड परीक्षाओं से पहले लगातार आंतरिक परीक्षाएं कर छात्रों की कमियों को तलाशा गया। फिर मिशन मोड में काम करते हुए इन कमियों को दूर किया गया। इसी कार्ययोजना ने एक बार फिर बरेली रीजन में हमको नंबर वन बना दिया।

हार्टमन में यह है खास
-हार्टमन कालेज छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए कटिबद्ध है।
-बरेली रीजन की सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी कालेज की सबसे बड़ी ताकत है।
-स्कूली पढ़ाई के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की भी होती है तैयारी
-कालेज में आधुनिक उपकरणों से युक्त प्रयोगशालाएं हैं।
-कालेज की विशाल लाइब्रेरी छात्रों को पढ़ने के लिए प्रेरित करती है।
-छात्रों के शारीरिक विकास के लिए विशाल खेल मैदान।
-सांस्कृतिक गतिविधियों में भी हार्टमन हमेशा आगे रहता है।
-ऑनलाइन एडमिशन शुरू करने वाला बरेली का पहला कालेज।
-स्कूल में छात्रों की इंट्री के लिए ऑनलाइन पंच कार्ड सिस्टम है।
-छात्रों की सुरक्षा के लिए स्कूल में तीन गेट हैं।
-हर कोने पर वॉयस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं।