खुशियों से पहले मातम का प्रवेश, पायलट पति का शव देखा तो अवाक रह गई गर्भवती। यह रहा पूरा मामला

172
खबर शेयर करें -

मनीष सक्सेना, मथुरा

गोविंदनगर कालोनी में रहने वाला एक परिवार जहां कुछ दिनों बाद खुशियों के प्रवेश की प्रत्याशा में जहां साज-सज्जा में जुटा था, उस घर में खुशियों से पहले मातम आ गया। केरल के विमान हादसे में शिकार हुए को-पायलट का शव रविवार को जब शहर पहुंचा तो हर कोई गमगीन और आंख नम दिखी। हर शख्स उस वक्त भावुक हो गया जब गर्भवती पत्नी ने पति का शव देखा तो वह बेहोश हो गई। पत्नी को पति की मौत की जानकारी न देकर उसके घायल होने के बारे में बताया गया था। पत्नी के प्रसव का समय निकट ही है।
शुक्रवार सायं केरल में विमान दुर्घटना में मारे गए को-पायलट अखिलेश का पाॢथव शरीर रविवार सुबह गोविन्द नगर स्थित आवास पर लाया गया। पाॢथव शरीर पहुंचते ही पूरा शहर थम गया और घर में कोहराम मच गया। उनका अंतिम संस्कार मसानी स्थित मोक्षधाम पर किया गया। 32 वर्षीय अखिलेश के शव को छोटे भाई राहुल ने मुखाग्नि दी।

शासन-प्रशासन की तरफ से नहीं पहुंचा कोई प्रतिनिधि
वंदेभारत मिशन के को-पायलट अखिलेश को अंतिम विदाई देने शासन-प्रशासन का कोई भी प्रतिनिधि नहीं पहुंचा। इसे लेकर परिवार और शहरवासियों में काफी आक्रोश है।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भेजा प्रतिनिधि
राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने अपने प्रतिनिधि के रूप में धौलपुर के अशोक शर्मा को शोक व्यक्त करने के लिए अंतिम संस्कार में भेजा। को-पायलट अखिलेश की पत्नी मेघा शर्मा धौलपुर की रहने वाली हैं।