मथुरा में भगदड़ से सबक : दिवाली पर बांके बिहारी मंदिर जाने से पहले पढ़ लें ये खबर

553
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, मथुरा। जन्माष्टमी पर भगदड़ मचने से दो लोगों की मौत और कईयों के घायल होने के बाद उत्तर प्रदेश के मथुरा स्थित बांके बिहारी मंदिर में दीपावली के पावन पर्व पर श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन ने ऐसी व्यवस्था की है, जिससे तीर्थयात्रियों को दर्शन के पूर्व, दर्शन के दौरान और उसके बाद किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो। जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बताया कि नई व्यवस्था के अंतर्गत श्रद्धालु जिस स्थान पर अपने वाहन से उतरेंगे, उसी के पास कार पार्किंग की सुविधा मिलेगी। बांके बिहारी मन्दिर के बाहर निकलते ही श्रद्धालु जिस मार्ग से मंदिर पहुंचेंगे उसी मार्ग की ओर उसे अलग पार्किंग मिलेगी।

गलियों में लगवाए गए पंखे

-मन्दिर जाने वाली गलियों के संकरा होने के कारण प्रायः तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ने पर गलियों में दम घुटने होने लगता है। इसको रोकने के लिए गलियों में पंखे लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। रविवार शाम तक सारी व्यवस्थाएं पूरी हो जाएंगी। दर्शन के लिए अंदर जाने वाले तीर्थयात्रियों से अपेक्षा की जाती है कि दर्शन करने के बाद शीघ्र ही वे मंदिर के बाहर आ जायें जिससे दूसरे यात्रियों को दर्शन का लाभ मिल सके।

टोलियों में दर्शन को भेजे जाएंगे श्रद्धालु

मंदिर के अंदर टोलियों में श्रद्धालु भेजने की व्यवस्था की गई है। यह व्यवस्था आगे भी जारी रहेगी और यदि इसमें तीर्थयात्री को कहीं परेशानी होती है तो उस पर भी विचार किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि आज इस व्यवस्था को लागू करने के पहले उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव और नगर आयुक्त अनुनय झा के साथ मंदिर के चारों तरफ गलियों में सर्वे किया तथा लोगों से बात कर समस्याओं की जानकारी ली। उसके बाद ही यह व्यवस्था शुरू की जा रही है।