Corona : लखनऊ में रात्रिकालीन कर्फ्यू, इन 12 शहरों में भी लागू करने पर हो रहा विचार

लखनऊ। कोराेना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। उत्तर प्रदेश इससे अछूता नहीं है। यहां भी रोज हजारों की संख्या में कोरोना के केस सामने आ रहे हैं। लखनऊ इससे सबसे ज्यादा प्रभावित है। इसी को देखते हुए यहां रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है। अब एक और खबर सामने आ रही है कि प्रदेश में 500 से ज्यादा केस वाले या रोजाना 100 से ज्यादा नए केस वाले 12 जिलों में भी रात्रि कर्फ्यू लगाया जा सकता है। इनमें प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर और मुरादाबाद जिले शामिल हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन जिलों के डीएम को स्थानीय परिस्थितियों का आकलन कर रात्रि कर्फ्यू पर फैसला लेने को कहा है। जिलाधिकारियों को स्थितियों के अनुसार स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी (परीक्षाओं को छोड़कर) के बारे में भी फैसला करने को भी कहा है।

यह भी पढ़ें : Corona effect,s : दिल्ली ने रोकी उत्तराखंड की रफ्तार, लोगों की यह बड़ी परेशानी

यह भी पढ़ें : Corona effect,s : दिल्ली ने रोकी उत्तराखंड की रफ्तार, लोगों की यह बड़ी परेशानी

लखनऊ समेत इन जिलों की वीडियो कांफ्रेंसिंग से समीक्षा करते हुए बुधवार को सीएम ने कहा कि अधिक प्रभावित जिलों में रात का आवागमन रोका जाए, लेकिन किसी भी परिस्थिति में जरूरी सामग्री जैसे दवा, अनाज आदि की आपूर्ति धित न कीजाए। मास्क न लगाने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाए। इससे लोगों में मास्क लगाने की प्रवृत्ति बढ़ेगी।

यह भी पढ़ें : Corona : अकेले भी कार चला रहे हैं तो ऐसा करना है जरूरी, पढ़ लें कोर्ट का ये आदेश

लखनऊ में 16 अप्रैल तक लगाया गया है रात्रि कर्फ्यू, इन्हें है छूट

लखनऊ के नगर निगम क्षेत्र में 8 अप्रैल से रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू कर दी गई है। यह सिर्फ नगर निगम क्षेत्र में ही लागू किया गया है। ग्रामीण लखनऊ अभी इससे मुक्त है। इसकी अवधि रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक होगी और यह 16 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। दिन में सुबह 6 बजे से शाम 9 बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ काम चलता रहेगा। आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने की छूट होगी। इस मामले में लखनऊ के डीएम का कहना है कि फल, सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी। रात्रिकालीन शिफ्ट के सरकारी/अर्ध सरकारी कर्मचारियों एवं आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं में लगे निजी क्षेत्र के लोगों के लिए भी छूट होगी। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट पर आने जाने वाले लोग अपना टिकट दिखा कर आ-जा सकेंगे। हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*