उत्तराखंड में योग्यता नहीं, सांठगांठ से दी जा रही नौकरी, अब मंत्री रेखा आर्य का नौकरी देने का सिफारिशी पत्र वायरल

483
# Rekha Arya letter for program in Bareilly
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड में नौकरी पाने को लेकर सामने आए घोटालों का मुद्​दा थमता नहीं दिख रहा है। अब मंत्री रेखा आर्य के नाम से भी एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें योग्य उम्मीदवारों के बजाय सिफारिश पर चार लोगों को उनके विभाग में नौकरी देने काे कहा गया है।

वायरल हो रहे पत्र में रेखा अार्य चार लोगों को नौकरी देने की सिफारिश कर रही हैं। वैसे तो यह पत्र साल 2020 का है, लेकिन इस समय इस पत्र का वायरल होना यह साबित कर रहा है कि जिन मंत्रियों और रसूखदार लोगों ने नौकरियों के लिए अपने करीबियों को तरजीह दी है, उनसे जुड़े सभी नए और पुराने मामले हर स्तर पर उजागर किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  आओ हम सब योग करें- शिविर में बच्चों को सिखाई योग की बारीकियां

रेखा आर्य के इस पत्र में उत्तरकाशी निवासी सुरेंद्र सिंह, गजेंद्र सिंह, पंकज रावत और आकाश राणा को नौकरी देने की सिफारिश की गई है। पत्र में लिखा गया है कि संबंधित चार शिक्षित बेरोजगार लोगों को विभाग में जहां भी आवश्यकता हो उन्हें तत्काल समायोजित किया जाए। मंत्री रेखा आर्य की तरफ से यह पत्र पशुपालन और मत्स्य विभाग के सचिव को भेजा गया है।

इन सबसे बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है। बिना परीक्षाओं के ही नौकरी देने की इस परंपरा ने उन बेरोजगार युवाओं के लिए मुश्किलें बढ़ाई हैं जो सालों साल तक कोचिंग और ट्यूशन के साथ घर में घंटों पढ़ाई करके नौकरी पाने का सपना देखते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  नहाने के दौरान गंगा नदी की धारा में बहा विदेशी पर्यटक, रेस्क्यू अभियान

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।