रंग लाई शिक्षकों की मांग, अब शिक्षक नहीं कराएंगे अपने प्रमाण पत्रों का सत्यापन। विभागीय अफसर खुद संभालेंगे जिम्मेदारी…

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून।

उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संगठन की मांग रंग ले आई है। शिक्षा निदेशक ने संशोधित आदेश जारी कर कहा है कि उप शिक्षा अधिकारी और जिला शिक्षा अधिकारी शिक्षकों के पूर्व से जमा स्वप्रमाणित शैक्षिक एवं प्रशिक्षण पत्रों का संबंधित बोर्डों से सत्यापन कराएंगे। विदित रहे कि पूर्व में यह जिम्मा शिक्षकों को ही दे रखा था। जिसका शिक्षक संगठन विरोध कर रहा था।
शिक्षा निदेशक प्रारंभिक शिक्षा आरके कुंवर द्वारा आदेश जारी कर कहा है अब शिक्षक नहीं बल्कि उप शिक्षा अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी खुद शिक्षकों के शैक्षिक एवं प्रशिक्षण प्रमाण पत्रों को संबंधित बोर्डों से सत्यापित करायेंगे |
संगठन के विरोध के बाद आज 3 नवंबर 2020 को शिक्षा निदेशक ने संशोधित आदेश जारी कर दिया है। इसमें स्पष्ट कहा गया है कि शिक्षकों द्वारा अपने अपने शैक्षिक एवं प्रशिक्षण प्रमाण पत्र स्वप्रमाणित कर उप शिक्षा अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध कराए गए हैं जिन्हें उप शिक्षा अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी त्वरित गति से अपने अपने स्तर से संबंधित बोर्डों से सत्यापन करा कर उपलब्ध करायेंगे |
इस पत्र से शिक्षकों ने राहत की सांस ली है तथा शिक्षकों पर अनावश्यक दबाव का भी पटाक्षेप हो गया है।

शिक्षकों की भावनाओं को समझने के लिए संगठन ने जताया आभार
नैनीताल। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संगठन के जिला मंत्री डिकर सिंह पडियार ने इसे शिक्षक एकता की जीत बताया है। उन्होंने सरकार और अफसरों का भी आभार जताया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*