नैनीताल में दूर होने जा रही पार्किंग की समस्या, आकर्षक और सुंदर पार्किंग के लिए डीएम ने शुरू किए प्रयास

171
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, नैनीताल ।

दुनिया भर के पर्यटकों के लिए सरोवर नगरी नैनीताल आकर्षण का केन्द्र रही है। पर्यटक सीजन के अलावा वर्ष भर देश-दुनिया के सैलानियों की आमद बड़ी तादाद में होती है। पर्यटकों की आमद बड़ने से नैनीताल शहर में पार्किंग की समस्या विकराल रूप ले लेती है। लेकिन आने वाले समय में यह समस्या न हो, इसके लिए डीएम ने स्थाई पार्किंग की व्यवस्था अभी से शुरू कर दी है।

जिलाधिकारी सविन बंसल ने सोमवार को शहर में स्थित मेट्रोपोल परिसर में व्यवस्थित पार्किंग निर्माण हेतु मौका मुआयना किया और सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों से पार्किंग निर्माण हेतु प्रस्तावित भावी कार्य योजना के कार्यों की जानकारी ली। श्री बंसल ने लोनिवि के इंजीनियरों को निर्देश दिए कि व्यवस्थित पार्किंग स्थल विकसित किया जाये तथा पार्किंग स्थल की सुन्दरता पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी दशा में काम-चलाऊ व्यवस्था नहीं की जाये। उन्होंने निर्देश दिए कि पार्किंग स्थल के बाहर की ओर आकर्षक बाउण्ड्री आदि का निर्माण किया जाये। उन्होंने निर्देश दिए कि मैदान को इस प्रकार समतल करते हुए विकसित किया जाये कि बरसात के मौसम में पानी न रूके और किसी भी प्रकार से फिसलन न हो। उन्होंने लोनिवि के इंजीनियरों को निर्देश दिए कि पानी की निकासी हेतु व्यवस्थित नालियों का निर्माण किया जाये, रेम्प की व्यवस्था की जाये, वाहनों के प्रवेश व निकासी द्वार अलग अलग बनाये जाये। उन्होंने मेट्रोपोल पार्किंग को इलैक्ट्रोनिक टिकटिंग,आॅटोमेंटिक बेरियर सहित आधुनिकतम तकनीकि से युक्त पार्किंग स्थल के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन विकास परिषद के माध्यम से शौचालय की व्यवस्था की जा रही है।
श्री बंसल ने पार्किंग स्थल पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था, मैदान में पड़े नगर पालिका के अनावश्यक एवं बेकार सामान को शीघ्र हटाने के निर्देश अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को दिए। उन्होंने मेट्रोपोल में खड़ी अनाधिकृत गाड़ियों को तत्काल हटवाने के निर्देश दिए। उन्होंने पार्किंग विकसित करने हेतु लोनिवि द्वारा तैयार डीपीआर में प्रस्तावित भिन्न पहलुओं की समीक्षा करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश उप जिलाधिकारी विनोद कुमार को दिए।
श्री बंसल ने निर्देश दिए कि मेट्रोपोल पार्किंग स्थल की भूमि का अधिक से अधिक उपयोग पार्किंग के रूप में किया जाये, जिससे पार्किंग क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी और शहर की सड़कों से वाहनों का दबाव कम होगा और अनावश्यक लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी। इसके साथ ही पर्यटों को शहर में ही अतिरिक्त व्यवस्थित पार्किंग की सुविधा मिल सकेगी।