लालकुआं में फिर गरमाया विस्तारीकरण का मुद्दा, मुख्यमंत्री को भेजा मेमोरेंडम

176
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, लालकुआं।

नगर से सटी करीब एक दर्जन मलिन बस्तियों एवं कॉलोनियों को लालकुआं नगर पंचायत में शामिल करने की मांग एक बार फिर उठने लगी है। उक्त कॉलोनियों में निवास करने वाले लोगों ने तहसीलदार के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजते हुए अतिशीघ्र लालकुआं नगर पंचायत का सीमा विस्तार करने की मांग की है। इन लोगों ने नगर से सटी मलिन बस्तियों एवं कॉलोनियों को लालकुआं नगर पंचायत में शामिल करने की मांग की है।

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं जिला महामंत्री भुवन पांडे के नेतृत्व में नगर से सटी मलिन बस्तियों एवं कॉलोनियों में निवास करने वाले लोगों ने ज्ञापन में कहा कि विगत कई वर्षों से नगर से लगी बंगाली कॉलोनी, नगीना कॉलोनी, 25 एकड़ झोपड़पट्टी, हाथी खाना, संजय नगर, राजीव नगर, बजरी कंपनी, खड्डी मोहल्ला, वर्मा कालोनी में निवास करने वाली लगभग 60 हजार लोगों की आबादी आज भी सभी सरकारी सुविधाओं से मरहूम है। उन्होंने कहा कि नगर पंचायत सीमा का विस्तारीकरण ना होने के चलते उक्त कॉलोनियों में निवास करने वाले लोगों को आज भी बिजली पानी सड़क साफ-सफाई से लेकर स्वास्थ्य संबंधी सहित तमाम सुविधाओं से वंचित रहना पड़ रहा है। यही नहीं यहां पर निवास करने वाले लोगों को जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र, विधवा पेंशन व वृद्धा पेंशन आदि के लिए हल्द्वानी के चक्कर काटने पड़ते हैं। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड राज्य बनने के बाद प्रत्येक चुनाव में उनसे लालकुआं नगर पंचायत सीमा का विस्तार का वादा कर वोट हासिल किए जाते हैं। लेकिन आज किसी भी जनप्रतिनिधि द्वारा नगर से सटी मलिन बस्तियों एवं कॉलोनियों को लालकुआं नगर पंचायत में शामिल करवाने से संबंधित कोई ठोस उपाय नहीं किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन के 1 माह बाद भी यदि लालकुआं नगर पंचायत के विस्तारीकरण पर सरकार द्वारा कोई कदम नहीं उठाया जाता है तो वह उग्र आंदोलन पर भी मजबूर होंगे।
ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से जितेंद्र पाल, इमरान खान ,अमजद खान, कफील अहमद ,चंदन जोशी, विक्की कश्यप, सारिक खान , इसरार अहमद आदि लोग मौजूद रहे।