प्रयागराज में पुरोहितों ने कर्मकांड ठप किया, ये है वजह

संगम नोज पर तीर्थ पुरोहितों के पट्टे हटाने पर सेना की कार्रवाई से नाराज तीर्थ पुरोहितों ने शुक्रवार को कार्मकांड ठप कर दिया। आए हुए जजमानों को संगम स्नान के बाद यूं ही वापस लौटना पड़ा। तीर्थ पुरोहितों का कहना है कि जब तक तख्त की व्यवस्था नहीं होगी तब तक किसी प्रकार का कर्मकांड नहीं कराया जाएगा।
गुरुवार को संगम तट पर तीर्थ पुरोहितों पर बड़ी कार्रवाई की गई। सभी तख्तों को तीन विभागों की संयुक्त कार्रवाई में हटा दिया गया। बताया गया कि यहां अतिक्रमण किया गया है। ऐसे में कार्रवाई की गई। तीर्थ पुरोहितों ने इसका विरोध किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। शुक्रवार को संगम पर दूर-दूर से कर्मकांड कराने के लिए पहुंचे लोग परेशान होकर संगम स्नान करके निराश लौट गए। संगम तट पर तीर्थ पुरोहितों ने कर्मकांड ठप करके पूरे दिन गुरुवार की कार्रवाई और अगली रणनीति पर चर्चा की। तीर्थ पुरोहित अमित पांडेय, कमल शर्मा, बांके बिहारी तिवारी, रवि तिवारी, दयाशंकर तिवारी, अभिषेक पांडेय चर्चा कर रहे थे कि अगली रणनीति क्या होगी। सुबह सेना की ओर से निरीक्षण के लिए आए एडमिन से तीर्थ पुरोहितों की बातचीत हुई। तीर्थ पुरोहितों ने बताया कि अफसर ने जल्द ही मामले में सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया है। तीर्थ पुरोहितों का कहना है कि जब तक तख्त वापस नहीं लग जाते तब तक वे लोग कर्मकांड नहीं करा सकते।

राष्ट्रपति भवन फोन करके मांगा समय
प्रयागराज आरती समिति के आचार्य प्रदीप पांडेय ने शुक्रवार सुबह राष्ट्रपति भवन फोन करके संगम के हालात की जानकारी दी। प्रदीप पांडेय का कहना है कि राष्ट्रपति भवन कार्यालय से कहा गया कि इस प्रकरण की लिखित जानकारी देकर समय मांगें तो मुलाकात का समय दिया जा सकता है। इसके साथ ही तीर्थ पुरोहितों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की तैयारी की है। जल्द ही प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करेगा। पूरे प्रकरण से सीएम को अवगत कराया जाएगा।

सदन के शीतकालीन सत्र में उठेगा मुद्दा
प्रयागराज। प्रयागवालों पर गुरुवार को हुई कार्रवाई के विरोध में अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के सदस्यों ने फूलपुर सांसद केशरी देवी पटेल से मुलाकात की। सचिव चंद्रनाथ चकहा ‘मधुजी’ ने बताया कि सांसद ने कमांडेंट से बातकर कार्रवाई रोकने के लिए कहा है। जिस पर कमांडेंट ने अफसरों से बात करके सार्थक प्रयास का आश्वासन दिया। सांसद ने आश्वस्त किया है कि इस कार्रवाई को संसद के शीतकालीन सत्र में उठाएंगी। जिससे समस्या का स्थायी निदान कराया जा सके। मुलकात करने वालों में विष्णु प्रसाद शर्मा, अमित राज वैध, श्रवण शर्मा, माधवानंद शर्मा, प्रकाशचंद्र मिश्र, प्रदीप पाठक, राजीव भारद्वाज, दिगंबर चकहा, राहुल तिवारी आदि मौजूद रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*