रुहेलखंड के खिलाड़ियों के घुटने कम उम्र में हो रहे खराब, डॉक्टरों ने बताई ये वजह

172
खबर शेयर करें -

बरेली। रुहेलखण्ड के खिलाड़ियों के घुटने कम उम्र में ही जवाब देने लगे हैं। व्यायाम की कमी, प्रैक्टिस के ख़राब तरीके और घटिया जूतों के कारण यह समस्या आई है। फिजियोथेरेपिस्ट डॉ शंशाक शेखर शुक्ला की 400 खिलाड़ियों पर की गई स्टडी में यह बात पकड़ में आई है। 


खुशलोक अस्पताल में फिजियोथेरेपी डिपार्टमेंट के हेड डॉ शशांक ने पिछले चार महीनों में रुहेलखण्ड के 400 खिलाड़ियों का चेकअप किया। 400 में से 150 खिलाड़ी घुटनों की किसी न किसी समस्या से ग्रस्त मिले। लगभग 80 खिलाड़ी तलवों के दर्द से परेशान मिले।

डॉ शशांक ने बताया कि स्टडी में पता चला कि ग्रामीण इलाकों में अधिकांश खिलाडी अभी भी नंगे पैर ही दौड़ लगाते हैं। वहीँ सबसे बड़ी दिक्कत ख़राब प्रैक्टिस सेशन की है। खिलाड़ी प्रैक्टिस करने से पहले घुटनों और रीढ़ की हड्डी की मजबूती के लिए कोई भी व्यायाम नहीं करते हैं। इस कारण घुटनों की मसल्स लगातार कमजोर होती चली जाती हैं। 


एसीएल में खिंचाव के बढ़े हैं मामले
शशांक ने बताया कि एसीएल यानि एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट घुटनों का महत्वपूर्ण ऊतक है। घुटने के अचानक से मुड़ जाने या खेलते समय चोट लगने से ऊतक में खिंचाव आ जाता है। कई बार ऊतक फट भी जाते हैं। ऐसे केस लगातार बढ़ रहे हैं।


रनर्स नी दे रहा तेज़ दर्द

ऐसे खिलाड़ी जिन्हें अपना घुटना ज्यादा मोड़कर रखना होता है, वो रनर्स नी के शिकार हो जाते हैं। घुटने की मसल कमजोर होने के कारण यह दर्द ज्यादा बढ़ता है।


इन बातों का हमेशा रखें ख्याल
0 प्रैक्टिस शुरू करने से पहले घुटनों का व्यायाम जरूर करें।
0 क्वाड्रीसेप यानि घुटनों से ठीक ऊपर की मसल को मजबूती देने वाले व्यायाम जरूर करें।
0 हैमस्ट्रिंग और बैक मसल्स को भी ताकत देने वाले व्यायाम करें।
0 चलते समय आंख, दिमाग और पैरों का संतुलन सही रखें।
0 उबड़ खाबड़ जगह पर कभी भी दौड़ने की प्रैक्टिस नहीं करें।
0 नगें पैर दौड़ना भी घुटनों के दर्द का एक बड़ा कारण है।
0 कभी भी घटिया जूतों का प्रयोग नहीं करें।
0 जूते लेते वक़्त उनकी कुशनिंग को सही से चेक कर लें।
0 दौड़ते समय नकल करने की जगह अपनी क्षमता का ध्यान रखें।
खानपान से बनेगी बात
0 खानपान में विटामिन डी और कैल्सियम की मात्रा बढ़ा दें।
0 अगर यूरिक एसिड सही है तो प्रोटीन युक्त दालें खाएं। 
0 चाय,काफी छोड़कर दूध के उत्पादों का प्रयोग करें 
0 हरी सब्जी और ब्रोकली का सेवन भी काफी लाभ देगा।
0 जौ घास, धनिया और रोज हिप्‍स आदि जड़ी बूटी खाएं।
आराम के लिए करें यह उपाय
0 घुटनों पर दवाब पड़ने वाले काम बंद कर दें।
0 सूजन में नी कैप से घुटने को ढककर रखें।
0 सूजन में 15-15 मिनट बर्फ से सिंकाई करें।
0 सोते समय घुटने के नीचे एक कुशन जरूर रखें।
0 फिजियोथेरेपिस्ट की सलाह से व्यायाम करें।
0 घुटनों के आसपास की मसल्स को मजबूत करने की कोशिश करें।
0 दर्द कम नहीं होने की स्थिति में तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें।