कुमाऊंनी भाषा आम बोलचाल में लाने के लिए सारथी फाउंडेशन ने उठाया यह बड़ा कदम, आप भी जानिए…

233
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी : सारथी फाउंडेशन समिति के कार्यालय विमल कुंज में एक बैठक आहूत की गई जिसमें आगामी कार्यक्रमों को लेकर योजना रचना बनाई गई। निर्णय लिया गया कि कुमाऊंनी भाषा के प्रचार प्रसार के लिए हम सभी स्थानीय लोगों को कुमाऊंनी में बोलना होगा। यह भाषा हमारी नई पीढ़ी भी सीखे, इसलिए आम बोलचाल में लाना अनिवार्य है।

आज की बैठक में बोलते हुए सुमित्रा प्रसाद ने कहा कि बगैर रूकें बगैर थके कार्य करना ही सारथी फाउंडेशन की पहचान है और हम सभी सारथी परिवार के पारिवारिक जन है और जो लगातार सफल आयोजन किए जा रहे हैं उसके लिए संस्था और समाज के सम्मानित जनों का आभार और धन्यवाद है एवं आगे के कार्यक्रमो के लिए वचनबद्ध होकर कार्य करने का आह्वान किया

बैठक में बोलते हुए नवीन पंत ने कहा कि सारथी संस्था के जिस प्रकार लगातार कार्यक्रमों में सभी सदस्य बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते है उसी तरह से आगे भी कार्य करते रहेंगे। और संस्था को आगे बढ़ाने में सहयोग करेंगे और पर्यावरण के दृष्टिगत ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों में जाकर पौधारोपण एवं उनके रखरखाव की जिम्मेदारी का संकल्प दिला कर ही वृक्षारोपण करेंगे जिससे कि लगाए गए पौधों जिंदा रह सके, उन्होंने बताया कि संस्था के द्वारा जो फलो एवं सब्जियों के बीज इकठ्ठा कर छडकने की मुहिम है वह बहुत सार्थक साबित हो रही है जिससे समाज के सभी वर्गों का सहयोग प्राप्त हो रहा है
बैठक में आए हुए सभी सारथी फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करते हुए अभिनंदन किया

यह भी पढ़ें 👉  बनभूलपुरा में भीषण अग्निकांड- कई झोपड़ियों हुई राख

बैठक में बोलते हुए ज्ञानेंद्र जोशी ने एक सुझाव दिया कि यदि सब सहमत हों तो आगामी बैठक से सभी लोग कुमाऊनी भाषा को बोलचाल में प्रयोग करें तो अपनी भाषा का प्रचार प्रसार भी होगा। बैठक के दौरान रश्मि पांडे, संदीप बिनवाल एवं एडवोकेट महिमा पांडे ने संस्था में कार्य करने की अपनी आस्था प्रकट की जिसको लेकर सर्व सम्मति से निर्णय लेकर संस्था द्वारा सारथी फाउंडेशन परिवार की सुमित्रा प्रसाद, दिशांत टंडन, दीप्ती चूफाल एवं मदन मोहन जोशी ने संस्था का बैच फूल माला पहनाकर सारथी परिवार में सामिल करा कर संस्था की सदस्यता ग्रहण कराई। सभी ने सारथी परिवार को तन मन धन से सहयोग देने का वचन भी दिया।

यह भी पढ़ें 👉  वनों की आग बुझाने के लिए रिस्पॉन्स टाइम हो कम से कमः सीएम

बैठक में दीप्ती चूफाल, प्रीति पाठक एवं नीलू नेगी ने कहा की ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों में वह लोग जाकर मात्र शक्ति को जोड़ने का काम सारथी परिवार के लिए निरंतर कर रहे हैं जो जारी रहेगा।

बैठक में मदन मोहन जोशी एवं दिशांत टंडन ने आवश्यक सुझाव देकर आगामी बेठक में सुझावो को सामिल करने की अपनी योजना बताई।

आज की बैठक में सुमित्रा प्रसाद, नवीन पन्त दिशांत टंडन, ज्ञानेंद्र जोशी,मदन मोहन जोशी, गिरिश चंद्र लोहनी, जाकिर हुसैन, दीप्ति चुफाल, प्रेमलता पाठक, नीलू नेगी, केतन जायसवाल, अतुल नागपाल, दीपक, खसटी पलड़िया, आनंद सिंह, प्रदीप कुमार आदि उपस्थित रहे।