संपत्ति देने से मना किया तो दामाद ने सास-ससुर समेत दो सालियों की हत्या कर घर में ही गाड़ा और रहने लगा आराम से

न्यूज जंक्शन 24, रुद्रपुर । जमीन के लिए आदमी किस हद तक जा सकता है, उत्तराखंड के रुद्रपुर में शुक्रवार को सामने आए मामले ने रूह कंपा दी है। यहां एक दामाद ने अपने ही जमीन नाम न करने पर अपने ससुर, सास और दो सालियों की हत्या कर दी और उन्हें उनके ही घर में जमीन का गड्डा खोदकर उसमें दफना दिया। हैरान करने वाली बात यह है कि इस पूरे मामले में बेटी भी शामिल रही। यह हत्या एक साल पहले की गई थी, जिसका खुलासा अब जाकर हुआ है।

रुद्रपुर निवासी 55 वर्षीय हीरालाल, उसकी पत्नी 45 वर्षीय हेमवती और दो बेटियां पार्वती 24 वर्ष और दुर्गा 20 वर्ष ट्रांजिट कैंप क्षेत्र में रहते हैं। हीरालाल ने अपनी सबसे बड़ी बेटी लीलावती की शादी नरेन्द्र गंगवार से की थी। नरेंद्र और उनकी पत्नी ससुर पर प्रॉपर्टी को अपने नाम कराने के लिए 2015 से लगातार दवाब बना रहा था। हीरालाल ने दो और बेटियां होने का हवाला देते हुए पूरी प्रॉपर्टी नरेन्द्र के नाम करने से इन्कार कर दिया। उसके बाद से ही दामाद ने ससुर और सभी परिजनों को मारने की ठान ली। पिछले साल 20 अप्रैल 2019 में नरेन्द्र, पत्नी और उसके किराएदार विजय ने चारों को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने कड़ी पूछताछ की तो नरेन्द्र ने सारा राज उगल दिया। नरेंद्र ने बताया कि 20 अप्रैल 2019 को तीनों ने मिलकर पहले ससुर और साली की हत्या की। फिर बाहर से दूध लेकर लौटीं सास और साली को भी मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद तीनों ने चारों के शव वहीं घर में ही खोद कर दफन कर दिए।

चारों की हत्या का ऐसे खुला

नरेन्द्र के ससुर हीरालाल का बरेली के मीरगंज में मकान और 12 बीघा खेत है। जिसकी देख रेख वहां दुर्गाप्रसाद करते हैं। अगस्त में नरेन्द्र बरेली मीरगंज गया था। जहां मकान और खेतों की देखभाल कर रहे दुर्गाप्रसाद को उसने बताया कि उसके ससुर आैर साली की मौत हो चुकी है। जिनका उसने पिछले साल ही अंतिम संस्कार कर दिया था। जबकि सास और सली एक साल से लापता हैं। वह प्रॉपर्टी अब मेरे नाम हो गई है। दुर्गा प्रसाद को नरेन्द्र की बात पर शक हुआ। जिसके बाद वे रुद्रपुर आ गए। आसपास के लोगों से पूछताछ की पता चला कि मकान एक साल से बंद है। उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने जब हिरासत में लेकर पूछताछ की तो नरेन्द्र ने पत्नी और साथी विजय के साथ मिलकर हत्या की बात कुबूली।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*