कुमाऊं से गढ़वाल की दूरी दो घंटे होगी कम, ज्योलीकोट से कर्णप्रयाग तक टू लेन होगी रोड, खैरना में बनेगा बाइपास

362
# two-lane road from Jeolikot to Karnprayag
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी। कुमाऊं के लोगों के लिए अच्छी खबर है। अब गढ़वाल जाने के लिए सफर आरामदायक होने जा रहा है। क्योंकि कर्णप्रयाग से हल्द्वानी मार्ग अब टू लेन होगा (two-lane road from Jeolikot to Karnprayag)। इसके चौड़ीकरण के प्रस्ताव को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने मंजूरी दे दी है। इस रोड के चौड़ी होने से अब कर्णप्रयाग और हल्द्वानी के बीच की दूरी दो घंटे कम हो जाएगी।

235 किमी लंबी इस सड़क का 164 किमी हिस्सा गढ़वाल और 171 किमी हिस्सा कुमाऊं में पड़ता है। यह रोड कई जगह सिंगल तो कहीं डेढ़ लेन का है। ऐसे में इसे काफी अरसे से टू लेन का बनाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा था, जिसे अब मंजूरी मिल गई है। लोनिवि के प्रमुख सचिव आरके सुधांशु ने बताया कि चौड़ीकरण का यह काम चार हिस्सों में होगा। जिसमें ज्योलीकोट, भवाली खैरना, क्वारब, काकड़ीघाट, अल्मोड़ा, रानीखेत, द्वारहाट, चौखुटिया, पांडवाखाल, गैरसैंण और कर्णप्रयाग तक सड़क चौड़ी की जाएगी। यह सड़क टू लेन पेव्ड शोल्डर के तहत बनेगी (two-lane road from Jeolikot to Karnprayag)। पेव्ड शोल्डर का मतलब सड़क किनारे पटरियों को डामरीकृत करना है। इससे सड़क चौड़ी हो जाती है और आवागमन में सुविधा होती है। हादसों में भी कमी आ सकती है।

उन्होंने बताया कि इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि खैरना के पास सिरदर्द बना क्रॉनिक लैंडस्लाइड जोन बाईपास हो जाएगा। अभी यहां विशेषकर मानसून सीजन में भूस्खलन होने से अकसर मार्ग बंद हो जाता है। मार्ग के इस हिस्से में द्वाराहाट और पांडुवाखाल में दो-दो किमी लंबी टनल भी प्रस्तावित किया गया है। इस पूरे काम पर 2115 करोड़ रुपये के खर्च का आकलन किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  सैर पर निकले सीएम- बड़े-बुजुर्गों तक पहुंचाया प्रधानमंत्री मोदी का प्रणाम और राम-राम

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें 👉  बाबा तरसेम सिंह हत्याकांड- पुलिस ने इस इलाके से गिरफ्तार किया एक और षड़यंत्रकारी

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।