बीएलओ की ड्यूरी लगाने के विरोध में नैनीताल के शिक्षकों ने लिया बड़ा फैसला, पढ़िए क्या बोले शिक्षक नेता

279
खबर शेयर करें -

 

Newsjunction24.com

नैनीताल : उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने बीएलओ ड्यूरी लगाने के विरोध में मोर्चा खोल दिया है। संघ ने सवाल उठाया है कि जब शिक्षामंत्री ने साफ कर दिया है कि शिक्षक बीएलओ ड्यूटी नहीं करेंगे तो क्यों लगाई जा रही है। यह दोहरी व्यवस्था समझ से परी है।

संघ के जिलाध्यक्ष मनोज तिवारी व जिला मंत्री डिकर सिंह पड़ियार ने मुख्यशिक्षा अधिकारी को भेजे पत्र में साफ कहा कि प्रशासन शिक्षकों की सुपरवाइजर की ड्यूटी लगा रहा है। इससे शिक्षण कार्य मे व्यवधान होगा। शिक्षा मंत्री साफ कह चुके हैं कि शिक्षकों से कोई गैर शिक्षण कार्य न लिया जाए। बीएलओ की ड्यूटी करने से शिक्षण कार्य प्रभावित होगा।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस को मिली सफलता- चोरी के वाहनों के साथ शातिर गिरफ्तार

यह भी सब जानते हैं कि कोविडकाल के चलते पहले से ही शिक्षण कार्य बुरी तरह प्रभावित हो चुका है। ऐसे में अब और शिक्षण व्यवस्था को खराब नहीं किया जा सकता।
शिक्षक नेताओं ने साफ कहा कि प्रशासन से यह आपत्ति विभाग के अधिकारियों को तत्काल दर्ज करानी चाहिए। ताकि बच्चों का भविष्य प्रभावित न हो। अगर जबरन गैर शिक्षण कार्य लिए जाने की कोशिश होगी तो शिक्षक विरोध करेंगे।