spot_img

एक मकान में रहते दो युवतियों को हुआ प्यार, साथ रहने पर अड़ीं। परिजनों के विरोध पर बोल डाला यह

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

इज्जतनगर की एक कॉलोनी में एक ही मकान में रहते-रहते दो युवतियों में प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आया है। दोनों ही साथ रहने पर अड़ी हुई हैं। इसको लेकर दोनों के परिजनों में थाने में तनातनी रही। जिसमें युवती के परिजनों ने बेटी की सहेली पर आरोप लगाये हैं। इसके अलावा युवती भी लगातार सहेली के साथ जाने की बात कह रही है।
मंगलवार को एक महिला ने बेटी के सहेली के साथ संबंध होने के कारण उसकी मां ने इज्जनगर पुलिस को सूचना दी थी। जिसमें उन्होंने बताया था उनके यहां पहले किराये पर रहने वाली युवती के साथ उनके बेटी के साथ संबंध थे। इसके अलावा उसका मकान बनने के बाद उनकी बेटी उसके पास ही रहने चली गई। जिसके बाद उन्होंने पुलिस का सहारा लिया और पुलिस उनकी बेटी को थाने ले आई। मंगलवार रात भर चला यह हाई टेंशन ड्रामा बुधवार को भी चालू रहा और थाने में युवती के परिजन उससे समझाने का प्रयास करते रहे। जिसके बाद भी युवती ने सहेली के साथ ही रहने की जिद करती रही। वहीं उसकी सहेली भी परिवार वालों ने आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी रखा और आरोप लगाते हुये कहा कि उसके परिवार वाले जबरन उसे घर ले जाने को कह रहे हैं। जबकि ऐसा नहीं होना चाहिये। उसकी सहेली भी लगातार थाने में डटी रही और युवती को ही साथ में ले जाने की जिद पर अड़ी रही। पुलिस इस मामले में समलैंगिकता का मामला मान रही है और युवती को सहमति न होने पर नारी निकेतन भेजने के बारे में सोच विचार कर रही है।

164 के बयानों के कारण परिवार बना रहा दबाव
युवती की सहेली का कहना है कि उसकी सहेली द्वारा कराये गये दुष्कर्म के मुकदमें के 164 के बयान होने हैं। जिसके कारण उसके भाई, मां और पिता उसे घर ले जाना चाहते हैं। जिससे कि वह अपने बयानों में उनका नाम न लें और जेल जाने से बच जाये।

सहेली के घर के पास किराये पर रहती थी युवती
युवती के लिये थाने पहुंची उसकी सहेली ने बताया कि वह उसके मकान के पास ही किराये के रुम में रहती थी। जहां पर उसके कमरे के बाहर गाड़ियों से भरकर लोग आते थे और धमकी देते हुये तेज हॉर्न बजाते थे। इसके कारण ही तीन दिन पहले वह उसके घर पर रहने आई थी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!