पत्नी ने कहा, तुमको मार दूं, पति ने मजाक समझ की हां, घरवालों को मिली लाश

एनजेआर, मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के नौझील
थाना क्षेत्र में एक नव दुल्हन ने शादी के दो माह के अंदर ही पति की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि उसे लड़के की सूरत पसन्द नहीं थी। इस कारण वह उसे हमेशा ताने दिया करती थी लेकिन लड़का उसे बेहद प्यार करता था।

क्षेत्र के गांव मडुआका निवासी मृतक के पिता सतवीर सिंह के मुताबिक 14 जून को उनके इकलौते बेटे विशंभर की शादी थाना इगलास जिला अलीगढ़ के गांव मोहकमपुर निवासी फौरन सिंह की बेटी डॉली से हुई थी। इन दो महीनों के भीतर ही डॉली तीन-चार बार अपने मायके हो आई थी। बताया कि वह शादी के बाद से ही उनके बेटे को पसंद नहीं करती थी। रोज ताने दिया करती थी। वह कहती थी कि न तेरी सूरत अच्छी और न ही तेरे अंदर अक्ल है लेकिन उनका बेटा विशंभर और परिवार के अन्य सभी लोग डॉली को बेहद प्यार से रखते थे। बताया जा रहा है कि लड़की शादी करना नहीं चाहती थी लेकिन घरवालों के दबाव में उसने शादी कर ली। मंगलवार को दम्पति बैठे बात कर रहे थे। इसी बीच डॉली ने विशम्भर से कहा कि मैं तुम्हारा गला घोंट दूं। विशंभर ने मजाक समझकर हामी भर दी। मौके का फायदा उठाकर डॉली ने गले में रस्सी डालकर उसका गला दबा दिया। विशंभर को अंदाजा नहीं था कि डॉली उसे मार देगी लेकिन काफी देर तक जब डॉली रस्सी को खिंचती रही तो विशंभर चीखने लगा लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।
मृतक के पिता सतवीर ने डॉली के विरुद्ध थाना नौहझील में हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

पुत्रवधु ने सपने कर दिए चकनाचूर

बड़े लाड चाब से 56 दिन पहले अपने इकलौते बेटे के लिए घर में बहू लेकर आए सतवीर को शायद ही इसका इल्म होगा कि वह जिसे ब्याह कर अपने घर ले जा रहे हैं वह उनके खानदान की वंशवेल को आगे बढ़ाने वाली बहू नहीं बेटे की मौत का कारण बनेगी। थाना प्रांगण में रोते बिलखते सतवीर सिंह के मुंह से बार-बार यही शब्द निकल रहे थे। उन्होंने बताया कि अपने बिन मां के बेटे को उन्होंने बड़ी उम्मीदों से पाला था। खेती-बाड़ी कर गुजर बसर करने वाले सतवीर ने अपने हाथों से खाना बना-बना कर बेटे को खिलाया है। 14 जून को अपने बेटे की बारात लेकर गांव मोहकमपुर से वह बड़े अरमानों के साथ अपनी बहू डॉली को विदा कराकर घर लाए। घर में खुशियों का माहौल था मगर डॉली ने सारे सपनों को चकनाचूर कर दिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*