spot_img

बिहार में बड़ा सियासी उलटफेर, अलग हुए जेडीयू और बीजेपी की राहें, नई सरकार के नए चेहरे हुए तय

न्यूज जंक्शन 24, नई दिल्ली। बिहार में सियासी उथलपुथल मची हुई है। इस बीच खबर है कि राज्य की सत्ता पर आसीन भाजपा और जेडीयू की राहें अलग-अलग होने जा रही हैं। नीतिश की पार्टी भाजपा से अलग होकर राजद के साथ सरकार बनाने को तैयार हो गई है। हालांकि अभी इस पर तीनों ही दलों की आेर से पत्ते नहीं खोले गए हैं।

बीते कई दिनों से बिहार की राजनीतिक गलियारों में हलचल मची है। नीतिश भाजपा शीर्ष नेताओं से नाराज बताए जा रहे हैं। वह कई मौकों पर भी बीजेपी से दूरी बनाने लगे थे। तकरीबन एक महीने पहले जातीय जनगणना के मुद्दे पर तेजस्वी से मुलाकात नीतीश कुमार की अकेले में पचास मिनट से ज्यादा हुई थी। इस मुलाकात के बाद से ही तेजस्वी यादव के सुर नीतीश कुमार को लेकर बदले बदले से नजर आने लगे थे। चर्चा है कि इसी कारण वे एक दिन पहले दिल्ली में हुई नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं हुए थे, जबकि इसके लिए देश के सभी मुख्यमंत्रियों को बुलाया गया था।

इसी बीच अब खबर आ रही है कि नीतिश कुमार राष्ट्रीय जनता दल के साथ अपनी सरकार आगे बढ़ाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, बिहार में नई सरकार की रूपरेखा तय हो चुकी है। तेजस्वी नीतीश कुमार को सीएम बनाने के लिए तैयार हो गए हैं। वहीं आरजेडी नेता तेजस्वी खुद डिप्टी सीएम के अलावा गृह विभाग भी अपने पास ही रखेंगे। इतना ही नहीं आरजेडी का ही सदन में स्पीकर भी होगा ये भी तय हो चुका है। दोनों ही दलों से शीर्ष नेता ही बात आगे बढ़ा रहे हैं। आरजेडी में सीधा तेजस्वी यादव कमान संभाले हुए हैं और समय समय पर लालू प्रसाद से संपर्क कर रहे हैं।

बिहार की राजनीति को करीब समझने वालों का तो यहां तक कहना है कि जिस दौरान लालू यादव एम्स में भर्ती थे, उसी दौरान जदयू के वरिष्ठ नेता वशिष्ठ नारायण सिंह भी पटना से दिल्ली इलाज के लिए आए थे। इसी दौरान पटना से जेडीयू और आरजेडी के बड़े-बड़े रणनीतिकारों का दिल्ली एम्स में आना-जाना बना हुआ था।

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!