भाजपा की जिला कमेटियां रोकेंगी अफसरों की मनमानी

150
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून : नौकरशाही के मनमाने रवैये से सत्तारूढ़ भाजपा के कार्यकर्ता ही अब इतने आजिज आ चुके हैं कि सरकार को सामंजस्य बनाने के लिए अब पार्टी की कमेटियां बनाने का निर्णय लेना पड़ा है। सरकार और संगठन ने प्रत्येक जिले में पार्टी जिलाध्यक्ष की अगुआई में कमेटी गठित करने का फैसला लिया है। यह कमेटी चार सदस्यों वाली होंगी, चारों पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता होंगे। जबकि विधायक नामित सदस्य के रूप में रहेंगे। भाजपा की इस कसरत को विधानसभा चुनाव की तैयारियों के रूप में देखा जा रहा है।
भाजपा की कोर कमेटी की बैठक रविवार को बीजापुर गेस्ट हाउस में हुई। बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिवप्रकाश, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, सांसद अजय भट्ट व तीरथ सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री संगठन ने शिरकत की।
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के अनुसार बैठक में कार्यकत्र्ताओं से मिले उस फीडबैक पर मंथन हुआ, जिसमें कहा गया कि जिलों में अधिकारी पार्टी कार्यकत्र्ताओं और आमजनता की बात नहीं सुन रहे। इसी के दृष्टिगत प्रत्येक जिले में जिलाध्यक्ष की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने का निर्णय लिया गया। यह कमेटी कार्यकत्र्ताओं के साथ ही जनसामान्य के तमाम मसलों पर विचार करेगी। जिस क्षेत्र से संबंधित समस्या होगी, उसका क्षेत्रीय विधायक के जरिये निदान कराया जाएगा। यदि समस्या शासन व सरकार के स्तर की हुई तो जिला कमेटी इसे प्रदेश भाजपा को भेजेगी। फिर मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाकर इसका निराकरण कराया जाएगा।