रुड़की में दिनदहाड़े ईंट भट्ठा स्वामी को गोलियों से भून डाला, मौके पर ही हो गई मौत। जांच में सामने आया यह बड़ा कारण

रुड़की। शहर के मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के कुमराडा गांव में मंगलवार को दिनदहाड़े ईंट भट्ठा स्वामी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए हैं।

मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के कुमराडा गांव में यूपी के शामली निवासी अजय मलिक का ईंट का भट्ठा है। मंगलवार को वह अपने दफ्तर में बैठे हुए थे। तभी बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इस कारण मलिक की मौके पर ही मौत हो गई। हत्या के पीछे की वजह जमीन को लेकर आपसी रंजिश बताई जा रही है।

बताया जा रहा है कि अजय मलिक ने ईंट भट्ठे की भूमि सढोली माजरा गांव निवासी नाथूराम से लीज पर ली थी। नाथूराम का बेटा इस जमीन को छुड़वाना चाह रहा था, लेकिन अभी तक लीज की मियाद पूरी नहीं हो पाई थी। इसी को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद चल रहा था, जिसकी वजह से ये हत्या हुई है।

वहीं, हत्या के बाद मौके पर पहुंचे एसपी देहात प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने कहा कि ईंट भट्ठा किराए पर लिया गया था, जिसे खाली कराने को लेकर विवाद चल रहा था। इसी वजह से ईंट भट्ठे के स्वामी अजय मलिक की गोली मारकर हत्या की गई है। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी की पहचान कर ली है। गोली मारने वालों का नाम अंकुश और विपिन बताया जा रहा है। दोनों सगे भाई हैं।

 

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*