कार सवार बदमाशों ने काशीपुर में पेपर मिल मैनेजर का अपहरण किया, पुलिस ने पकड़े अपहर्ता। यह निकला मामला

न्यूज जंक्शन 24, काशीपुर।

काशीपुर में बदमाशों ने गुरुवार की शाम को पेपर मिल के मैनेजर का अपहरण कर लिया। सूचना पर हरकत में आई पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की और पांच बदमाशों को गिरफ्तार करने के साथ ही मैनेजर को भी सकुशल बरामद कर लिया। अपहरण में शामिल एक महिला समेत दो लोग फरार बताए जा रहे हैं।
बीती देर सायं हुई कार सवार बदमाशों ने ड्यूटी से घर लौट रहे पेपर मिल के प्रबंधक को अगवा कर उसकी बुरी तरह पिटाई करने के बाद बैग में रखी हजारों की नकदी लूट ली। अपहरण की वारदात की सूचना मिलने पर एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर रात्रि लगभग 1ः30 बजे काशीपुर पहुंच गए। उन्होंने अपहरणकर्ताओं को पकड़ने और अपहृत को बरामद करने के लिए पुलिस टीम गठित करने का निर्देश दिया। पुलिस टीम ने तत्परता दिखाते हुए रातों रात बदमाशों में से पांच को दबोच लिया। जबकि एक महिला समेत दो अभी फरार बताए जा रहे हैं। पकड़ में आये बदमाशों के कब्जे से पुलिस को लूटी गई नकदी व अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। मामले का खुलासा करते हुए एएसपी राजेश भट्ट ने बताया है कि अन्य आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
पुलिस को दी तहरीर में मूल रूप से मौजमपुर सूरज तहसील धामपुर जनपद बिजनौर उत्तर प्रदेश व हाल मधुबन नगर निवासी शिखा रानी पत्नी दीपक कुमार ने बताया कि उसके पति दीपक कुमार पुत्र हरपाल विश्वनाथ पेपर मिल में कर्मचारी हैं। रोजाना की भांति गत गुरुवार को जब वह डड्ढूटी6 से घर लौट रहे थे इसी दौरान घर के समीप क्रेटा संख्या यूके 18एल/3190 व एसयूवी संख्या एचआर 36आर/8181 पर सवार महिला समेत आधा दर्जन अज्ञात बदमाशों ने उन्हें रास्ते से बलपूर्वक अगवा कर लिया। घटना के तत्काल बाद जैसे ही अपहत पेपर मिल कर्मी की पत्नी ने पुलिस को इस मामले की खबर दी। सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर को जब इसका पता चला तो देर रात वह भी काशीपुर पहुंच गए।
गिरफ्त में आए बदमाशों ने अपने नाम ग्राम जमशेदपुर थाना डिलारी जिला मुरादाबाद निवासी अमित कुमार पुत्र हरपाल सिंह, छीना फार्म ढकिया गुलाबो निवासी सुनील सिंह पुत्र राजेन्द्र सिंह, न्यू आवास विकास काशीपुर निवासी अंकित चौधरी पुत्र बलवीर सिंह, सरोजनी नगर अलीगंज रोड, काशीपुर निवासी विशाल भारद्वाज पुत्र कुलदीप भारद्वाज व खड़कपुर देवीपुरा थाना आईटीआई निवासी अशोक ठाकुर पुत्र वेदप्रकाश बताए। तलाशी में पांचों के कब्जे से पुलिस को लूटे गये 10 हजार रूपये, पर्स, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड, विजिटिंग कार्ड बरामद हुए। घटना में प्रयुक्त दोनों कारों को पुलिस ने कब्जे में लेकर सीज कर दिया। एएसपी ने बताया कि वारदात में शामिल आवास विकास निवासी मनोज चौधरी पुत्र ओमकार सिंह तथा कलश मंडप के समीप निवासी प्रियंका चौहान नामक महिला की सरगर्मी से तलाश जारी है। एएसपी ने बताया कि जल्द ही फरार दोनों अभियुक्तों को सलाखों के पीछे किया जायेगा। वारदात में शामिल पांचों बदमाशों में से चार अलग-अलग फाइनेंस कंपनियों में काम करते हैं। पुलिस के अनुसार मनोज का ठाकुरद्वारा मुरादाबाद उत्तर प्रदेश निवासी एक महिला के साथ पार्टनरशिप में कैमिकल प्लांट है। कैमिकल खरीदने का दबाव बनाने के लिए ही मैनेजर को अगवा किया गया था।
खुलासा करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक संजय पाठक, एसएसआई सतीश चन्द्र कापड़ी, एसआई रविन्द्र बिष्ट, गणेश पाण्डे, अमित शर्मा, संजीव कुमार, जितेन्द्र कुमार, कांस्टेबल बीरेन्द्र यादव, महेंद्र डंगवाल, दीवान सिंह बोरा, अनुज त्यागी, मनोज कुमार, दलीप बोनाल, सुरेन्द्र सिंह, मोहन गिरी, महिला कांस्टेबल प्रियंका कांबोज व भुवनेश्वर शामिल रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*