वीपीडीओ परीक्षा घोटाले में आरएमएस कंपनी का सीईओ गिरफ्तार, ओएमआर सीट के साथ की थी छेड़छाड़

272
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। एसटीएफ ने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी यानी वीपीडीओ परीक्षा 2016 में आरएमएस कंपनी लखनऊ के सीईओ राजेश पाल निवासी रायबरेली लखनऊ को गिरफ्तार किया है, जिसके बाद आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया. जहां से कोर्ट ने आरोपी को 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

वर्ष 2016 में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के 197 पदों के लिए परीक्षा कराई थी। परीक्षा में एक लाख से अधिक युवा शामिल हुए थे। राजेश पाल ने परीक्षा की ओएमआर सीट के साथ छेड़छाड़ की थी। इस प्रकरण में एसटीएफ अब तक तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है।

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने परीक्षा पेपर लीक प्रकरण में सम्मलित सभी अपराधी और व्यक्ति को गिरफ्तार करने के सख्त निर्देश दिए हैं। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा मामले में लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। दोषियों के खिलाफ साक्ष्य एकत्र कर कार्रवाई के लिए एसटीएफ को निर्देश दिए जा रहे हैं। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा परीक्षा लीक मामले में लगातार कार्रवाई चल रही है। पूरे मामले की मॉनिटरिंग की जा रही है। एसटीएफ पेपर लीक मामले में कड़ियां जोड़कर आरोपियों को गिरफ्तार कर रहे हैं।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।