Corona in uttrakhand : व्यवस्थाओं की देखरेख को मंत्रियों की भी ड्यूटी, जानिए आपके जिले का जिम्मा किस मंत्री के पास

 

देहरादून : उत्तराखंड में कोरोना के जिस तेजी से केस बढ़ रहे हैैं, उसको रोकने के लिए तीरथ सिंह रावत सरकार हर संभव कदम उठा रही है। पहले अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के साथ अब अपने मंत्रियों को भी मोर्चे पर तैनात कर दिया है। मंत्रियों को एक-एक जिला सौंपा गया है। यह मंत्री जिलाधिकारी और शासन के बीच सेतु का काम करेंगे। साथ ही देखेंगे जिले में संक्रमितों का इलाज सही से हो रहा है अथवा नहीं।
कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में सख्त कदम उठाए गए हैं तो विभागीय सचिवों को भी जिम्मेदारी सौंपी गई। इस कड़ी में मुख्यमंत्री ने अब अपने मंत्रिमंडल के साथियों को भी व्यवस्था को सुदृढ़ करने में लगा दिया है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर मंत्रियों को जिले भी आवंटित कर दिए गए हैं। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को हरिद्वार, बंशीधर भगत को नैनीताल, यशपाल आर्य को ऊधमसिंहनगर, डा हरक सिंह रावत को पौड़ी व रुद्रप्रयाग, सुबोध उनियाल को टिहरी, बिशन सिंह चुफाल को बागेश्वर व पिथौरागढ़, गणेश जोशी को देहरादून तथा अरविंद पांडेय को चंपावत जिले की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा धन सिंह रावत को चमोली, रेखा आर्य को अल्मोड़ा और स्वामी यतीश्वरानंद को उत्तरकाशी जिले का जिम्मा सौंपा गया है।

डरें नहीं, प्रदेश में रेमडेसिवीर इंजेक्शनों की कमी नहीं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि मंत्रियों को जिम्मेदारी दिए जाने से सरकार और मशीनरी के बीच तालमेल बेहतर होगा। उन्होंने भरोसा जताया कि जल्द ही इसके उचित परिणाम दिखने लगेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस समय सबसे अधिक टेस्ट हो रहे हैं। कहीं भी किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं बरती जा रही है। इस समय दूसरे राज्यों के मरीज भी उत्तराखंड के अस्पतालों में आ रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह कि स्थिति गंभीर होने के बाद मरीज अस्पतालों की ओर रुख कर रहे हैं। इस कारण यहां मृत्यु दर बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन है। किसी अस्पताल को इसकी आवश्यकता हो रही है तो तत्काल उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए नोडल अधिकारी नामित कर दिए गए हैं। जनता को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। प्रदेश में दो दिन पहले 7500 रेमडेसिवीर इंजेक्शन मिले हैं। सरकार हालत पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*