Big news uttrakhand : ऊधमसिंह नगर में पंजाब के बदमाशों से मुठभेड़, मोस्ट वांटेड तीन खूंखार गिरफ्तार। यहां छिपे बैठे थे काफी दिनों से

 

रुद्रपुर : पंजाब से तराई का आपराधिक कनेक्शन अभी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। पंजाब में हत्या, जानलेवा हमला व फिरौती समेत 28 से अधिक गंभीर मुकदमों में नामजद खूंखार तीन बदमाशों को काशीपुर में कुमाऊं एसटीएफ और पंजाब क्राइम कंट्रोल यूनिट ने सोमवार देर शाम मुठभेड़ में दबोच लिया। दोनों ओर से 24 से अधिक राउंड फायरिंग की बात सामने आ रही है।
एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि पंजाब के क्राइम कंट्रोल यूनिट ने उन्हें बदमाशों के काशीपुर में छिपे होने की जानकारी दी। इसके बाद सीओ पूर्णिमा गर्ग, निरीक्षक एमपी सिंह व पंजाब क्राइम कंट्रोल यूनिट के इंस्पेक्टर पुष्पेंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर क्षेत्र स्थित गुलजारपुर गांव पहुंची। पुलिस टीम को देख बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। करीब आधे घंटे चले मुठभेड़ में तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से तीन पिस्टल एवं भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुए।

इनकी हुई गिरफ्तारी
-संदीप सिंह उर्फ भल्ला शेखू पुत्र अंग्रेज सिंह निवासी बठिंडा, पंजाब।
-फतेह सिंह उर्फ युवराज पुत्र बलजिंदर सिंह निवासी संगरूर, पंजाब।
-अमनदीप निवासी, संगरूर पंजाब।
-बदमाशों को शरण देने वाला जगवंत, निवासी गुलजारपुर काशीपुर।

कुलवीर सिंह पर फायरिंग के बाद से हुए थे फरार
गिरफ्तार संदीप सिंह उर्फ भल्ला शेखू के खिलाफ सात व फतेह सिंह उर्फ युवराज पर 28 मुकदमे दर्ज हैं। दोनों कुलवीर सिंह उर्फ बीरा उर्फ साधू सिंह निवासी नरुआना, बठिंडा पर फायरिंग के बाद से फरार चल रहे थे। तीसरा आरोपित अमनदीप नौ मामलों में वांछित है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*