किडनी रोग से पीड़ित इस अफसर ने ड्यूटी में की काफी सेवा, अब खुद के लिए रहा भटक। पेंशन तक नहीं मिल रही

न्यूज जंक्शन 24, कालाढूंगी।

सरकारी व्यवस्था का हाल देखना है तो कालाढूंगी के पूर्व तहसीलदार इसका ताजा उदाहरण हैं। जिंदगी भर लोगों की सेवा करने में गुजारने वाला यह अफसर रिटायर क्या हुआ कि सरकार ने उनसे मुंह ही फेर लिया है। किडनी रोग से ग्रस्त यह अफसर अपना सरकारी पैसा पाने के लिए देहरादून के दर्जनों चक्कर काट चुका है। मगर टहला दिया जा रहा है।
नैनीताल के कालाढूंगी तहसील के तहसीलदार रहे गोपाल राम आर्या अपनी कार्यशैली के लिए यहां की जनता के बीच काफी लोकप्रिय रहे। किडनी रोग से पीड़ित होने के बाद भी वह जनता की सेवा में लगे रहते थे। दिसम्बर में वह सेवानिवृत्त हो गए। उसके बाद उनको अभी तक उनके सरकारी देयकों का भुगतान नहीं हुआ है। जबकि इस बीच उनकी कई बार हालत बिगड़ चुकी है, दिल्ली में इलाज में लिए भर्ती रहे हैं। आर्या का कहना है कि वह हालत बिगड़ने से पहले कई बार देहरादून हो आया हूं। मगर देयक नहीं मिल रहे हैं। उन्हें न तो पेंशन ही मिली और न ही जीपीएफ तथा अन्य देयकों की धनराशि मिल सका है।
अब सीधे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिलकर ही समस्या समाधान की गुहार लगाने की सोच रहा हूँ।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*