कनिष्ठ के अधीन वरिष्ठ अधिकारी, सरकारी कमेटी में नियमों की अनदेखी। डीएम को भेजी अभियंताओं ने शिकायत

न्यूज जंक्शन 24, हलद्वानी।

सरकारी कमेटियों में वरिष्ठता का ध्यान न रखे जाने का मामला चर्चा में आया है। नैनीताल में राज्य आपदा निधि और मुख्यमंत्री राहत कोष के तहत संबंधित योजनाओं की स्वीकृति व क्रियान्वयन के लिए मुख्य विकास अधिकारी के नेतृत्व में समिति गठित की गई है। जिसमें लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को बतौर सदस्य नामित किया है। गठित कमेटी में वरिष्ठता का ध्यान ना रखे जाने पर उत्तराखंड इंजीनियर्स फेडरेशन ने घोर आपत्ति जताई है। नाराज अभियंताओं ने बैठक कर वरिष्ठता की इस अनदेखी से जिलाधिकारी को भी अवगत करा दिया है।
जिलाधिकारी को संबोधित पत्र में फेडरेशन के अध्यक्ष संजय शुक्ल समेत सभी वरिष्ठ अभियंताओं का कहना है की अधीक्षण अभियंता मंडल स्तरीय पद है और मुख्य विकास अधिकारी पद से वरिष्ठ है। ऐसे में उस कमेटी में अधीक्षण अभियंता को मुख्य विकास अधिकारी के अधीन रखा जाना नियमों के खिलाफ है। इससे किसी भी वरिष्ठ अधिकारी का मनोबल भी गिरता है। लिहाजा नियम और अधिकारियों की वरिष्ठता को देखते हुए कमेटी का चयन किया जाए। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कहा के अधीक्षण अभियंता की जगह अधिशासी अभियंता को बतौर सदस्य नामित कर दिया जाए। उन्होंने इस मांग को गंभीरता से लेने का अनुरोध किया है। पत्र में फेडरेशन सचिव विशाल सक्सेना, अधीक्षण अभियंता रंजीत रावत जी, अमित बंसल, ए एस अंसारी, जावेद अनवर, अशोक कुमार, महेंद्र कुमार आदि वरिष्ठ अभियंताओं के हस्ताक्षर हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*