जाति के बंधन में साथ जी न सके तो साथ मरकर दिखा दिया जमाने को

उत्तराखंड के जिला ऊधमसिंह नगर के नानकमत्ता स्थित नानक सागर डैम में बरेली से लापता युवक-युवती की लाश मिली है। दोनों के हाथ एक-दूसरे से दुप्पटे बंधे थे। युवती विवाहित थी। जबकि युवक की शादी नहीं हुई थी। बताया जा रहा है कि दोनों 3 अगस्त से घर से लापता थे। उनकी गुमशुदगी बरेली थाने में दर्ज है। बताया जा रहा है कि दोनों की जाति अलग-अलग थी। इसलिए परिजनों ने शादी से इनकार कर दिया था।

शुक्रवार सुबह नानकसागर बैराज से करीब एक हजार मीटर पूरब की ओर ग्रामीणों ने डैम में दोनों की लाशें देखी। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई।
पुलिस ने शवों को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकलवाया। युवक का बायां हाथ तथा युवती का दाहिना हाथ चुन्नी से बंधा था। तलाशी में उनके पास एक मोबाइल, आधार कार्ड व 810 रुपये की नकदी तथा दो जोड़ी चप्पल बरामद हुई है। पुलिस ने बताया कि आधार कार्ड के अनुसार मृतक किशन लाल कश्यप की उम्र 25 वर्ष थी। वह गंगापुर कॉलोनी, बरेली उत्तर प्रदेश का रहने वाला था। जबकि मृतका युवती राजकुमारी की आयु 21 साल थी। वह बिथरी चैनपुर स्थित रामगंगा कॉलोनी जिला बरेली उत्तर प्रदेश की रहने वाली थी। युवती की बरेली जिले में ही कुछ दिन पूर्व शादी हो चुकी थी।

घरवाले शादी करा देंगे, इसलिए पांच माह पहले आये थे घर


युवक-युवती पांच महीने पहले भी घर छोड़कर चले गए थे तब किसी तरह दोनों के परिजनों ने घर लौटने पर दोनों की शादी कराने का वायदा किया था। इस वायदे पर वे लौटकर आये थे लेकिन लड़की के परिजनों ने डेढ़ माह पहले उसकी शादी कहीं और कर दी लेकिन दोनों की फोन पर बात होती रही। रक्षाबंधन पर लड़की घर आई। तय प्लान के मुताबिक, दोनों अपने-अपने घर से बहाना बनाकर चले गए। शुक्रवार को उनकी लाश मिली।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*